यूपी के मंत्रियों की पाठशाला में विशेषज्ञ बतायेंगे निर्णय व जोखिम के आकलन का गुर

यूपी के मंत्रियों की पाठशाला में विशेषज्ञ बतायेंगे निर्णय व जोखिम के आकलन का गुर


लखनऊ। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम-मंथन के तीसरे व अंतिम चरण की कार्यशाला रविवार को शुरू हुई। इस कार्यशाला में प्रबंधन के विशेषज्ञ योगी के साथ मंत्रियों और शासन के वरिष्ठ अफसरों की टीम को निर्णय करने की क्षमता तथा जोखिम के आकलन करने के गुर बताएंगे।

सूत्रों की मानें तो तीसरे चरण में प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डॉलर वाली बनाने के लिए प्रस्तावित कार्ययोजना को मंत्रियों और अफसरों के समक्ष अंतिम रूप दिया जाएगा। सूबे के विकास को गति देने के लिए चिह्नित पांच क्षेत्रों में विशेष तौर पर काम करने के सुझाव दिये जाएंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री देश की अर्थव्यवस्था को आर्थिक मंदी से उबारने के लिए केंद्र सरकार की ओर से दिये गए राहत पैकेजों के बारे में भी जानकारी देंगे।

पिछले दो रविवार की तरह इस बार भी सरकार के मंत्री और विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव,प्रमुख सचिव,सचिव स्तर के अधिकारी मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर इकट्ठा हुए और मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रबंधन की पाठशाला में शामिल होने के लिए बसों में बैठकर आइआइएम लखनऊ परिसर पहुंचे। यह कार्यशाला शाम 06 बजे तक चलेगी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री की पहल पर आइआइएम लखनऊ ने 'मंथन' नामक नेतृत्व क्षमता विकास कार्यक्रम तैयार किया है। तीन दिवसीय इस कार्यक्रम का पहला चरण 08 सितमबर और दूसरा 15 सितम्बर को आयोजित हुआ था।


Share it
Top