केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को छात्रों ने बनाया बंधक, छुडाने के लिये फोर्स लेकर पहुंचे राज्यपाल

केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को छात्रों ने बनाया बंधक, छुडाने के लिये फोर्स लेकर पहुंचे राज्यपाल

कोलकाता। एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को छात्रों ने बंधक बना लिया है। काफी देर की जद्दोजहद के बीच भी जब छात्रों ने उन्हें नहीं छोडा तो राज्यपाल सुरक्षाकर्मियों को लेकर मंत्री को छुडवाने के लिये वहां पहुंचे। मंत्री को बंधक बनाये जाने के बाद पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गये और छात्रों को मनाने के प्रयास जारी थे।

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह ने घेराव किया और उन्हें काले झंडे दिखाए. बाबुल सुप्रियो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करने के लिए विश्वविद्यालय आए थे। वामपंथी झुकाव वाले संगठनों-आर्ट फैकल्टी स्टूडेंट्स यूनियन और स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया के सदस्यों ने शुरुआत में 'बाबुल सुप्रियो वापस जाओ' के नारे लगाते हुए करीब डेढ़ घंटे तक उनको कैंपस में प्रवेश करने से रोका। शाम पांच बजे परिसर से बाहर निकलते समय भी भाजपा नेता को विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। सूत्रों ने बताया कि वह अभी कैंपस में ही रूके हैं, क्योंकि प्रदर्शनकारी छात्रों ने उनकी कार का रास्ता रोक दिया। भारी सुरक्षा के बीच सेमिनार में शिरकत करने वाले सुप्रियो ने कैंपस में संवाददाताओं से कहा, 'मैं यहां राजनीति करने नहीं आया हूं. विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों के व्यवहार से दुखी हूं, जिस तरह उन्होंने मेरा घेराव किया। उन्होंने मेरे बाल खींचे और मुझे धक्का दिया। सूत्रों ने बताया कि घटना के बारे में पता चलने पर विश्वविद्यालय के कुलपति सुरंजन दास ने प्रदर्शनकारी छात्रों से कारण जानने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने विश्वविद्यालय के द्वार से हटने से इनकार कर दिया।

Share it
Top