जादवपुर विश्वविद्यालय में मंत्री बाबुल सुप्रियो से बदसलूकी..प्रधानमंत्री और अमित शाह ने किया बाबुल को फोन, पहुंचे राज्यपाल

जादवपुर विश्वविद्यालय में मंत्री बाबुल सुप्रियो से बदसलूकी..प्रधानमंत्री और अमित शाह ने किया बाबुल को फोन, पहुंचे राज्यपाल


नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की सियासत में एक बार फिर उबाल आ गया है। ताजा मामला जादवपुर विश्वविद्यालय से जुड़ा हुआ है। केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो एबीवीपी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए यूनिवर्सिटी गए थे। लेकिन वहां उनके कार्यक्रम का एसएफआई के कार्यकर्ताओं ने न केवल विरोध किया बल्कि उनके साथ धक्का मुक्की भी की। प्रदर्शनकारियों की इस हरकत के बाद बाबुल सुप्रियो धरने पर बैठ गए हैं। इस बीच गवर्नर जगदीप धनकड़ ने सीएम ममता बनर्जी से बातचीत की है।

इस बीच महानगर के जादवपुर विश्वविद्यालय में वामपंथी छात्रों के हाथों हमले के शिकार हुए केंद्रीय मंत्री और आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने फोन किया। शाम के समय दोनों ने फोन पर बात कर सुप्रियो का हाल जाना है। इसके बाद अमित शाह के निर्देश पर अतिरिक्त संख्या में केंद्रीय बलों को विश्वविद्यालय में भेजा गया है ताकि बाबुल को सुरक्षित निकाला जा सके। आरोप है कि जिन नक्सल पंथी छात्रों एवं तृणमूल छात्र परिषद के छात्रों ने केंद्रीय जवानों के सामने ही बाल पकड़कर बाबुल पर हमले किए उन्हीं लोगों ने उन्हें अपराह्न 2.30 बजे देर शाम सात बजे खबर लिखे जाने तक बंदी बनाकर रखा है।

पहुंचे राज्यपाल

इधर एक तरफ राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने विश्वविद्यालय के कुलाधिपति होने के नाते राज्य पुलिस महानिदेशक विरेंद्र कुमार से बात की और कुछ देर बाद ही जादवपुर विश्वविद्यालय के लिए रवाना हो गए हैं। सूत्रों के अनुसार राज्यपाल के आगमन की खबर मिलने के बाद छात्र और अधिक उग्र हो गए हैं। विरोध प्रदर्शन बढ़ गया है। इधर राज्यपाल ने दोषी छात्रों को चिह्नित कर उनके खिलाफ ठोस कार्रवाई का निर्देश दिया है।

इस्तीफा दे सकते हैं कुलपति

बाबुल सुप्रियो पर हुए हमले को लेकर विश्वविद्यालय के कुलपति सुरंजन दास ने माफी मांगी है। छात्रों ने उनपर भी हमला कर दिया है जिसके कारण उनकी तबीयत बिगड़ गई है। इलाज के लिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर राज्यपाल द्वारा रिपोर्ट तलब किए जाने और छात्रों के हंगामे के कारण चौतरफा दबाव में आए कुलपति ने इस्तीफा देने का मन बना लिया है। सूत्रों के अनुसार उन्होंने राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी से बात भी की है। उन्होंने इस्तीफे की पेशकश कर दी है।

एक्शन के मूड में भाजपा

इधर बाबुल सुप्रियो पर हमले को लेकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को येन-केन प्रकारेण हालात को संभालने का निर्देश दिया है। सूत्रों के अनुसार विश्वविद्यालय परिसर के पास भाजपा के कार्यकर्ता भी पहुंच गए हैं। विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं के टकराव के आसार हैं। प्रदेश भाजपा की ओर से घोषणा कर दी गई है कि बाबुल पर हमले के खिलाफ शुक्रवार को पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इसके खिलाफ चक्का जाम करने के साथ-साथ पुलिस मुख्यालयों का घेराव कर ज्ञापन सौंपा जाएगा।

Share it
Top