मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : लड़कियों को घरवालों से मिलवाने पर सुप्रीम कोर्ट कल देगा आदेश

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : लड़कियों को घरवालों से मिलवाने पर सुप्रीम कोर्ट कल देगा आदेश


नई दिल्ली। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में लड़कियों को घरवालों के साथ मिलवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल यानि 12 सितम्बर को आदेश पास करेगा। आज (बुधवार को) टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज ने 24 लड़कियों के पुर्नवास की सम्भावनाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट सौंपी है। इस रिपोर्ट पर चाइल्ड वेलफेयर कमेटी और बिहार सरकार कल यानि 12 सितंबर को जवाब देगा।

पिछले 18 जुलाई को सुप्रीम ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज को निर्देश दिया था कि वो शेल्टर होम की भुक्तभोगी सभी 44 लड़कियों के पुनर्वास की योजना तैयार करें। कोर्ट ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज को निर्देश दिया था कि वो इसके बारे में चार हफ्ते में रिपोर्ट दाखिल करें।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सीबीआई को भी चार हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था। पिछले तीन जून को कोर्ट ने सीबीआई को निर्देश दिया था कि वो इस मामले की जांच तीन महीने में पूरी करे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि तीन महीने में बच्चियों की हत्या, अप्राकृतिक यौनाचार, शेल्टर होम में आने वाले बाहरी लोगों की भूमिका जैसे पहलुओं की जांच पूरी करें। कोर्ट ने सीबीआई से कहा था कि भारतीय दंड संहिता के तहत रेप के आरोपों, यौन शोषण की वीडियो रिकॉर्डिंग की भी जांच करें।

पिछले तीन मई को सुनवाई के दौरान सीबीआई ने हलफनामा दायर कर कहा था कि वह मुख्य अभियुक्त ब्रजेश ठाकुर और दूसरे आरोपियों द्वारा हत्या किए गए 11 बच्चियों के मामले की जांच कर रही है। सीबीआई ने कहा था कि उसने एक सह आरोपित की निशानदेही पर श्मशान घाट में हड्डियों का गट्ठर मिला है।


Share it
Top