बिजनौर में मंत्री कपिल देव के स्वागत को लेकर भिड़े भाजपाई, भारतेन्द्र व विधायक पति के बीच कहासुनी

बिजनौर में मंत्री कपिल देव के स्वागत को लेकर भिड़े भाजपाई, भारतेन्द्र व विधायक पति के बीच कहासुनी


मुज़फ़्फ़रनगर। अनुशासन के पैमाने पर काफी सख्त दल के रूप में पहचान रखने वाली भाजपा में पिछले काफी दिनों से अनुशासनहीनता के मामले नजर आ रहे है। कार्यकर्ताओं की अनुशासनहीनता के चलते ही स्वागत कार्यक्रम में हादसे के दौरान प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को अपने कनिष्ठ अंगुली गंवानी पड़ी। इसके बाद सीसीएस यूनिवर्सिटी में परिवहन मंत्री अशोक कटारिया के स्वागत में कार्यकर्ताओं में मारपीट की घटना पर बहस जारी थी कि आज राज्य के व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री कपिल देव के बिजनौर में स्वागत कार्यक्रम के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच कहासुनी होने के बाद कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये। पुलिस ने बामुश्किल मामला संभाला।

बता दें कि विगत दिवस मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में राज्य सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार के बार परिवहन मंत्री बनाये गये बिजनौर जनपद के निवासी भाजपा के प्रदेश महामंत्री और एमएलसी अशोक कटारिया के स्वागत को लेकर हाल ही में छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गये थे। इसको लेकर काफी हंगामा मचा। इसमें कई कार्यकर्ता घायल भी हुए थे। इस घटना से पूर्व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के मुजफ्फरनगर में स्वागत को लेकर उमड़े सैलाब के दौरान हुए हादसे में अंगुली कट गयी। मेरठ में कार्यकर्ताओं में हाथापाई के बाद रविवार को बिजनौर जनपद में प्रभारी मंत्री कपिल देव के स्वागत को लेकर भाजपा कार्यकर्ता आमने सामने आ गए। मौके पर मौजूद पुलिस ने जैसे-तैसे कार्यकर्ताओं को समझाबुझाकर स्थिति सामान्य की।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार के व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री ;स्वतंत्र प्रभारद्ध कपिल देव अग्रवाल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिजनौर और शाहजहांपुर जनपदों का प्रभारी मंत्री भी बनाया है। रविवार को प्रभारी मंत्री के रूप में कपिल देव अग्रवाल पहली बार बिजनौर जिले में पहुंचे। उनके स्वागत के लिए कार्यकर्ता और पार्टी के नेता भारी संख्या में उमड़ पड़े। बिजनौर के मुख्य मार्ग पर स्थित कान्हा फार्म में उनके स्वागत के लिए बड़ी संख्या में समर्थक व भाजपा कार्यकर्ता जुटे हुए थे। यहां पर भव्य समारोह का आयोजन किया गया था। इसी दौरान जैसे ही मंत्री स्वागत समारोह स्थल पहुंचे, तो स्वागत के लिए उत्साहित कार्यकर्ताओं में धक्का मुक्की और कहासुनी होने लगी, वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए।

इस दौरान कार्यकर्ताओं के बीच खूब नोकझोंक भी हुई। भाजपा कार्यकर्ता एक दसूरे से हाथापाई करते हुए गाली गलौज पर उतर आए। इस सारे प्रकरण को मंच पर मौजूद मंत्री कपिल देव भी देख रहे थे। बताया गया कि स्वागत कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्य्क्ष साकेन्द्र चैधरी, पूर्व सांसद भारतेंद्र सिंह और बिजनौर सदर सीट से विधायक सुचि चैधरी के पति ऐश्वर्य चैधरी शामिल रहे हैं। इन्हीं नेताओं के बीच पहले कहासुनी हुई और फिर इन नेताओं के समर्थक कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये। काफी देर तक वहां पर हंगामा होता रहा। हालांकि मौके पर मौजूद प्रभारी मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने कार्यकर्ताओं को समझाते हुए कहा कि वह सभी के लिए यहां पर आये हैं, कार्यकर्ताओं के उत्साह की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि इस उत्साह को अनुशासन में रखें। उन्होंने कार्यकर्ताओं को समझाया और सभी का अभिवादन स्वीकारते हुए आगे बढ़ गये। कार्यक्रम में पुलिस ने कार्यकर्ताओं से बात की और उन्हें समाझाकर शांत किया। तब जाकर माहौल शांत हुआ।

बता दें कि बिजनौर में हुए पेद्दा कांड में एश्वर्य चैधरी के नामजद होने के बाद उनकी पत्नी विधायक बनीं। जिले भर में वकीलों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनकी झूठी नामजदगी पर गुस्सा जताते हुए प्रदर्शन किया था। तब भाजपा विधायक स्व. लोकेंद्र चैहान, भाजपा के प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, जिलाध्यक्ष राजीव सिसौदिया, विधायक अशोक राणा सहित तमाम नेता उनकी गिरफ्तारी के समय मौजूद रहे थे। ऐश्वर्य की गिरफ्तारी में भारी भीड़ उमड़ी थी। सहानुभूति की लहर में उनकी पत्नी ने विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की थी।

Share it
Top