प्रधानमंत्री ने 'मन की बात' में की भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाने की अपील

प्रधानमंत्री ने मन की बात में की भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाने की अपील

नई दिल्ली, 25 अगस्त । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नागरिकों से भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए आंदोलन शुरू करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को मनाने के लिए त्योहार की घोषणा करते हुए देशवासियों से प्लास्टिक के खतरे से निपटने और सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को खत्म करने के लिए जन आंदोलन शुरू करने का आह्वान किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में कहा, भारत एक बड़े उत्सव की तैयारी में जुटा है और भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में भी उसकी चर्चा है। मैं बात कर रहा हूं महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की। ऐसे में समाज के सभी लोगों से अपील करता हूं कि इस साल की गांधी जयंती को भारत माता को प्लास्टिक मुक्त करके मनाएं। उन्होंने कहा, गांधी जयंती का दिन एक विशेष श्रमदान का उत्सव बन जाए। जून में प्रधानमंत्री के अपना दूसरा कार्यकाल शुरू करने के बाद यह उनका तीसरा रेडियो प्रसारण है।

उन्होंने कहा, पिछले कुछ सालों में हम 2 अक्टूबर से पहले लगभग दो सप्ताह तक देशभर में 'स्वच्छता ही सेवा' अभियान चलाते हैं। इस बार ये 11 सितंबर से शुरू होगा। मोदी ने इस दौरान लोगों से अपने आसपास सार्वजनिक स्थलों पर श्रमदान कर स्वच्छता का महाअभियान चलाने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार गांधी जयंती पर हम उन्हें न केवल खुले में शौच से मुक्त भारत समर्पित करेंगे बल्कि उस दिन पूरे देश में प्लास्टिक के खिलाफ एक नए जन-आंदोलन की नींव रखेंगे।

मोदी ने कहा, महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका में ऐसे समुदायों की सेवा की जो नस्लीय भेदभाव का खामियाजा भुगत रहे थे। उन्होंने चंपारण में किसानों की सेवा की, जिनके साथ भेदभाव किया जा रहा था। उन्होंने ऐसे मिल कर्मियों की सेवा की, जो कम वेतन पर काम कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने इस बार गांधी जयंती पर लोगों से गांधी के आदर्शों के अनुरूप सेवा कार्य करने की सलाह दी।

उन्होंने गांधी जयंती पर प्रत्येक देशवासी से कोई न कोई संकल्प लेने का आग्रह करते हुए कहा कि देश, समाज के लिए, किसी और के लिए कुछ न कुछ करना चाहिए। यही बापू को अच्छी, सच्ची, प्रमाणिक कार्यांजलि होगी।

Share it
Top