एटा में खाकी को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया....पति को मुठभेड़ में मारने की धमकी देकर दो दरोगाओं ने किया विवाहिता से बलात्कार

एटा में खाकी को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया....पति को मुठभेड़ में मारने की धमकी देकर दो दरोगाओं ने किया विवाहिता से बलात्कार

एटा। उत्तर प्रदेश के एटा जिले में खाकी को शर्मसार करने वाला मामला प्रकाश में आया है। पति को मुठभेड़ में मारने और जेल भेजने जैसी धमकी देकर अवागढ़ थाने में तैनात दो दरोगा महीनों तक विवाहिता के साथ दुष्कर्म करते रहे। पीडि़त महिला का पति जब दिल्ली से लौटा तो महिला ने सारी बात बताई। पीडि़त दम्पत्ति ने एटा के अपर पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर दरोगाओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। फिलहाल दोनों आरोपी दरोगाओं के खिलाफ रिपोर्ट लिखकर दोनों को लाइन हाजिर कर दिया गया हैं। इस घटना से एटा के पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ हैं। पुलिस सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि अवागढ़ क्षेत्र के एक गाँव के रहने वाले एक युवक के खिलाफ न्यायालय से एक गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। उसके बाद ये युवक अपने खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट को निरस्त कराने के लिए पैसों का इंतजाम करने दिल्ली में मजदूरी करने लगा। इस दौरान अवागढ़ थाने में तैनात दरोगा योगेश कुमार तिवारी पीडि़त युवक के अवागढ़ स्थित घर पर बार-बार दबिश देने लगा। उसने वांछित की पत्नी का मोबाइल नम्बर ले लिया और मोबाइल नम्बर से सम्पर्क कर विवाहिता को अपने कमरे में बुलाकर जबरन शारीरिक संबंध बना लिए और मोबाइल फोन से अश्लील वीडियो भी बना ली। इस प्रकार से वो करीब चार-पांच महीने से महिला का शारीरिक शोषण कर रहा था। इसी बीच दरोगा योगेश कुमार तिवारी के मकान में ही रहने वाले उसके साथी दरोगा प्रेम कुमार गौतम ने भी पीडि़त महिला की अश्लील वीडियो बना ली और उसका शारीरिक शोषण शुरू कर दिया। पीडि़त युवक ने तहरीर में कहा है कि उसकी पत्नी घबराई हुई थी, जिसके कारण लाचार होकर दुष्कर्मी पापी दरोगाओं के जुल्म को सहती रही। पीडि़त युवक ने तहरीर में लिखा है कि इस समय पीडि़त युवती के गर्भ में लगभग तीन माह का शिशु इसी दरोगा योगेश तिवारी का पल रहा हैं। दिल्ली से घर लौटने पर पत्नी ने उसे पूरी बात बताई। उसके बाद दोनों पति-पत्नी ने इसकी पुलिस में शिकायत करने का निर्णय लिया। इसी बीच जब दोनों दरोगाओं को पति-पत्नी द्वारा मामले की पुलिस में शिकायत करने की भनक लगी तो आठ जुलाई को उक्त दोनों दरोगाओं ने पीडि़त युवक और उसकी पीडि़त पत्नी को एटा कचहरी पर बुलाया और अपनी गाड़ी में बिठाकर कुछ न करने का दवाब बनाया और पीडि़त युवक को धमकी दी कि तू ज्यादा इधर-उधर भाग रहा है, हम पुलिस वालों का कुछ नहीं बिगाड़ पायेगा, तुझे जान से मार देंगे। यही नहीं इसी दौरान उक्त दोनों दरोगाओं ने 5०/5० रुपये के दो खाली स्टाम्प पेपरों पर पीडि़त युवक और उसकी पत्नी के हस्ताक्षर भी करवा लिए। मामले की शिकायत मिलते ही एटा पुलिस हरकत में आ गई और अपर पुलिस अधीक्षक एटा संजय कुमार ने मामले की जॉच जलेसर के सीओ गुरमीत सिंह को सौंपी। जांच के बाद अवागढ़ थाने में पीडि़त महिला के पति की तहरीर पर उक्त दोनों दरोगाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 2 ए 1, 5०6, 12० बी की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया हैं। इसके बाद दोनों आरोपी दरोगाओं को एटा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने तुरंत प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया, जिससे मामले की विवेचना निष्पक्ष रूप से बिना किसी दबाव के की जा सके।

Share it
Top