इनेलो को झटका, दो विधायकों का इस्तीफा, भाजपा में शामिल

इनेलो को झटका, दो विधायकों का इस्तीफा, भाजपा में शामिल

चंडीगढ़। हरियाणा में राज कर चुकी इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के लिए मंगलवार 'अमंगल' साबित हुआ।उसके दो और विधायकों ने ठेंगा दिखाते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया। जुलाना विधानसभा क्षेत्र से इनेलो विधायक परमिंदर सिंह ढुल्ल और मेवात से विधायक जाकिर हुसैन का भाजपा में जाना इनेलो के लिए अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक झटका माना जा रहा है।

सिटी ब्यूटीफुल में मंगलवार को एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला की मौजूदगी में दोनों नेताओं ने इनेलो को अलविदा कहते हुए भाजपा का दामन थामा। दोनों विधायकों ने भाजपा में शामिल होने से पहले विधायक पद से इस्तीफा दिया। उनके त्यागपत्र विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर ने स्वीकार कर लिए हैं।

इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान भी इनेलो के तीन विधायक भाजपा में शामिल हो चुके हैं। ढुल्ल के भाजपा में शामिल होने से जींद जिले में इनेलो का कोई नामलेवा नहीं बचा है। किसी समय जींद जिले को इनेलो का गढ़ माना जाता रहा है। वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में जींद जिले की पांच सीटों में से तीन पर इनेलो ने जीत हासिल की थी। एक सीट पर भाजपा और एक पर निर्दलीय की जीत हुई थी।

इनेलो के एक विधायक के निधन के बाद जींद की सीट भाजपा के पास चुकी है और एक विधायक जननायक जनता पार्टी में शामिल हो चुका है। इनेलो के तीसरे विधायक परमिंदर सिंह ढुल्ल के भाजपा में जाने से जींद जिले में इनेलो के अस्तित्व पर संकट खड़ा हो गया है। मेवात जिले को भी शुरू से ही इनेलो का गढ़ माना जाता रहा है।

चौटाला कार्यकाल में ही मेवात को जिले का दर्जा प्रदान किया गया था। पिछले चुनाव में मेवात जिले की कुल तीन विधानसभा सीटों में से नूंह और फिरोजपुर झिरका से इनेलो तथा पुन्हाना से निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की थी। पुन्हाना के विधायक नसीम अहमद कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं और अब जाकिर हुसैन भाजपा में चले गए हैं।

निर्दलीय विधायक रहीस खान पहले से भाजपा के साथ हैं। ऐसे में भाजपा ने जाटलैंड व मुस्लिम बाहुल क्षेत्र में अब मजबूत पकड़ बना ली है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि परमिंदर ढुल्ल व जाकिर हुसैन के भाजपा में आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी और भाजपा सदन के भीतर और बाहर मजबूत राजनीतिक दल के रूप में उभरेगी। प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि यह खुशी की बात है कि भाजपा का कुनबा लगातार तेजी से बढ़ रहा है। पार्टी नहीं, एक परिवार की तरह दोनों विधायकों को उचित सम्मान दिया जाएगा। पार्टी दोनों वरिष्ठ विधायकों के अनुभव से अपनी चुनाव रणनीति को आगे बढ़ाएगी।


Share it
Top