वरिष्ठ स्तंभकार, भाजपा नेता राजनाथ सिंह 'सूर्य' नहीं रहे.

वरिष्ठ स्तंभकार, भाजपा नेता राजनाथ सिंह सूर्य नहीं रहे.


लखनऊ। वरिष्ठ स्तम्भकार, भाजपा नेता राजनाथ सिंह 'सूर्य' का आज गुरुवार को सुबह निधन हो गया । वह 82 वर्ष के थे। सूर्य का देहावसान लखनऊ के पत्रकारपुरम कालाेनी स्थित उनके आवास पर हुआ। वे शरीर में कंपन रोग से पीड़ित थे। उनके निधन की खबर लगते ही सुबह से उनके आवास पर पत्रकार जगत के साथ ही कई राजनेेताओं ने पहुुंचकर परिजनों को सांत्वना दिया।

राजनाथ सिंह 'सूर्य' राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े रहे। संघ से उनका जुड़ाव स्वयंसेवक के रूप में हमेशा रहा। उन्होंने पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्थान समाचार से की थी। इसके बाद वे कई मीडिया संस्थानों से जुड़े। दैनिक 'आज' समाचार पत्र में उन्होंंने संपादक के रूप में अपनी सेवाएं दीं। दैनिक 'स्वतंत्र भारत' में भी वे बहुत दिनों तक संपादक रहे। इसके बाद स्वतंत्र पत्रकारिता के माध्यम से आजीवन अपनी लेखनी को धार देेते रहे। उनका आख़िरी आलेख ' तो राहुल ही करेंगे देश को कांग्रेसमुक्त' जारी हुआ था। राजनाथ सिंह सूर्य भाजपा के संस्थापकों में एक थे। वे आजीवन भाजपा और संघ से जुड़े रहे। वे राज्यसभा के सदस्य भी रहे। उत्तरप्रदेश हिन्दी संस्थान ने राजनाथ सिंह सूर्य को पत्रकारिता भूषण सम्मान से नवाजा था। इसके अलावा उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था।

राजनाथ सिंह 'सूर्य' के दो बेटे और एक बेटी हैं। सुबह खबर मिलते ही लोग पहुंचने लगे। उनके लखनऊ के पत्रकारपुरम कालोनी स्थित आवास पर श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लग गया। लोग शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना देते रहे।


Share it
Top