चुनाव प्रचार से विरत सीएम योगी आदित्यनाथ धर्म यात्रा पर...योगी ने अयोध्या में रामलला के दर्शन कर दलित के घर जाकर किया भोजन

चुनाव प्रचार से विरत सीएम योगी आदित्यनाथ धर्म यात्रा पर...योगी ने अयोध्या में रामलला के दर्शन कर दलित के घर जाकर किया भोजन

अयोध्या/बलरामपुर। लोकसभा चुनाव में भड़काऊ बयानबाजी के आरोप के कारण चुनाव आयोग का 72 घंटे का प्रतिबंध झेल रहे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को धर्म यात्रा पर रहे। भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक श्री योगी ने सुबह उन्होंने अयोध्या में रामलला और हनुमानगढी के दर्शन किये। हनुमान चालीसा का पाठ किया। साधु संतों से मुलाकात की। दलित बस्ती का भ्रमण कर उनकी दिक्कतों को जाना। उनके संग भोजन किया जबकि शाम को उन्होने बलरामपुर में शक्तिपीठ माँ पाटेश्वरी देवी के दर्शन कर पूजा अर्चना की। लखनऊ में सुबह दिव्यांग छात्रों से मुलकात करने के बाद श्री योगी अयोध्या कूच कर गये जहां सबसे पहले वह दलित बस्ती सुतहटी पहुंचे और प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी महावीर के आवास पर गये और परिवार के लोगों के साथ भोजन किया। श्री योगी ने उनसे पूछा कि प्रधानमंत्री आवास मिलने में किसी तरह का पैसा तो देना नहीं पड़ा तब महावीर के परिवार ने बताया कि बहुत आसानी से उन्हें आवास मिल गया, जिसमें हम रह रहे हैं। उन्होंने महावीर से पूछा कि क्या और अन्य सरकारी योजनाओं का भी लाभ आपको मिल रहा है तो उन्होंने कहां मिल रहा है। श्री योगी ने श्रीरामजन्मभूमि के अध्यक्ष एवं मणिरामदास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास से भी मुलाकात की। इस अवसर पर श्रीरामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष मणिराम दास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, अयोध्या विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, महंत धर्मदास, दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, विश्व हिन्दू परिषद के प्रवक्ता शरद शर्मा सहित अन्य संत मौजूद थे। मुख्यमंत्री दिगम्बर अखाड़ा गये और वहां महंत सुरेश दास के साथ भोजन भी किया। सुग्रीव किला के महंत स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य के देहान्त के बाद श्री योगी उनके किला पर भी गये। मुख्यमंत्री ने हनुमानगढ़ी मंदिर में मत्था टेकने के बाद विवादित श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन किए और बाद में नये घाट पर जाकर सरयू आरती भी की। अयोध्या के बाद श्री योगी बलरामपुर जिले के तुलसीपुर क्षेत्र के पाटन गांव में स्थित शक्तिपीठ माँ पाटेश्वरी देवी पाटन मंदिर आये और पूजा-अर्चना कर मंदिर परिसर में लगे राजकीय मेले का निरीक्षण किया। श्री योगी देवी पाटन मंदिर के संरक्षक है। पूजा पाठ के बाद उन्होने श्रावस्ती लोकसभा सीट से भाजपा सांसद एवं प्रत्याशी दद्दन मिश्र समेत जिले के वरिष्ठ भाजपा नेताओं से मुलाकात कर विचार-विमर्श किया। सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री मठ में रात्रि विश्राम करेंगे। दरअसल, योगी को 1० अप्रैल को मंदिर परिसर में नवनिर्मित माँ सम्मय माता मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कर हवन पूजन करने आना था, लेकिन भाजपा के स्टार प्रचारक होने के नाते चुनावी व्यस्तता के कारण वे नहीं आ सके। गौरतलब है कि एक चुनावी जनसभा 'अली बजरंगबली के बयान को संज्ञान में लेकर निर्वाचन आयोग ने भाजपा के स्टार प्रचारक योगी पर 72 घंटे चुनाव प्रचार से विरत रहने का प्रतिबंध लगाया था जिसके बाद श्री योगी ने मंगलवार को लखनऊ में हनुमान सेतु मंदिर गये थे और दर्शन-पूजन के बाद हनुमान चालीसा का पाठ किया था। मुख्यमंत्री गुरूवार को धार्मिक नगरी वाराणसी जायेंगे जहां वह बाबा विश्वनाथ और कालभैरव समेत अन्य मंदिरों के दर्शन करेंगे।

Share it
Top