बीजेपी से बगावत कर सपा में पहुंचे श्यामाचरण, बांदा लोकसभा सीट से प्रत्याशी घोषित

बीजेपी से बगावत कर सपा में पहुंचे श्यामाचरण, बांदा लोकसभा सीट से प्रत्याशी  घोषित

प्रयागराज । लोकसभा चुनाव का ऐलान होते ही दल बदलने का सिलसिला शुरू हो चुका है। प्रयागराज से भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता को समाजवादी पार्टी ने शनिवार को बांदा से टिकट दे दिया।

इससे पहले 2004 में वह समाजवादी पार्टी के टिकट पर बांदा से चुनाव जीते थे। इसके बाद 2009 में वह फूलपुर सीट से भी सपा के टिकट पर चुनाव लड़े, लेकिन यहां उन्हें 15 हजार से कम वोटों से बसपा प्रत्याशी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। श्यामाचरण गुप्ता बुंदेलखंड और विंध्याचल क्षेत्र के एक बड़े कारोबारी एवं श्यामा ग्रुप ऑफ कंपनीज के सीएमडी हैं।

गुप्ता अपनी सरकार के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं। कुछ दिनों पहले इनके पुत्र विदुप अग्रहरि ने कहा था कि अगर भाजपा उनके पिता का टिकट काटती है तो वह अकेले चुनाव लड़ेंगे। ऐसे में अब कयास लगाए जा रहे हैं कि विदुप अब प्रयागराज से निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं। इनको यूपी कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी के विरोधी खेमे का माना जाता है।

लंबे समय से भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता का प्रयागराज से टिकट कटने की अटकलें लगाई जा रही थीं। इन अटकलों के बीच श्री गुप्ता पार्टी छोड़कर सपा में शामिल हो गए। इतना ही नहीं, उन्हें बांदा से प्रत्याशी भी घोषित कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश की प्रयागराज लोकसभा सीट से भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता पार्टी से बगावत कर सपा से जुड़ गए हैं। माना जा रहा था कि भाजपा आलाकमान इस बार श्यामाचरण गुप्ता का टिकट काटने की तैयारी में था, इस खतरे को भांपकर पहले ही उन्होंने भाजपा को छोड़कर सपा का दामन थाम लिया।

गौरतलब है कि सांसद श्यामाचरण गुप्ता के बेटे विदुप अग्रहरि ने भाजपा पर पिता के अपमान का आरोप लगाकर टिकट कटने की आशंका जताई थी। इसके साथ उन्होंने खुद पिता की सीट यानी इलाहाबाद से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।

Share it
Top