शहीदों को नमन कर स्थगित हुई उप्र विधानसभा की कार्यवाही

शहीदों को नमन कर स्थगित हुई उप्र विधानसभा की कार्यवाही



लखनऊ। जम्मू कश्मीर के कुलवामा में शहीद हुए जवानों को नमन कर उत्तर प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित कर दी गई। विधानसभा में आज बजट पर चर्चा होनी थी। प्रश्न लगे हुए थे, लेकिन सदन में कार्यवाही रोककर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गयी और कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सदस्यों ने कहा कि हमारे जवान शहीद हुए हैं। आज का समय उन्हें श्रद्धांजलि देने का है। विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने प्रस्ताव स्वीकार करते हुए शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने का निर्णय लिया।

नेता विपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि सीआरपीएफ के जवानों पर हुए कायराना हमले के लिए दोषियों को माफ नहीं किया जाना चाहिए। इस संवेदनशील घड़ी में पूरा देश एक है। दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब दिया जाना चाहिए। बसपा के लालजी वर्मा ने कहा कि कायराने हमले के लिए दुश्मन को माफ नहीं किया जाना चाहिए इसकी जितनी निंदा की जाए कम है।

कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने कहा कि यह समय राजनीति का नहीं है। देश एकजुट है और हमला करने और करवाने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने का समय है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ कह दिया है कि हमला करवाकर आतंकवादियों के आकाओं ने बहुत बड़ी चूक की है। आतंकी संगठनों और उनके समर्थकों को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। इसके बाद दो मिनट मौन रहकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई और सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

गौरतलब है कि गुरुवार शाम पुलवामा में एक आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए और कई घायल हो गए हैं।


Share it
Top