बंगाल सरकार ने फिर नहीं दी योगी के हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की अनुमति, झारखंड में उतरेगा विमान

बंगाल सरकार ने फिर नहीं दी योगी के हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की अनुमति, झारखंड में उतरेगा विमान


कोलकाता। पश्चिम बंगाल सरकार ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की अनुमति नहीं दी है। मंगलवार को पुरुलिया जिले में होने वाली उनकी जनसभा के लिए हेलीकॉप्टर लैंडिंग की अनुमति राज्य सरकार ने नहीं दी। इसके बाद भाजपा ने योगी के हेलीकॉप्टर को झारखंड के बोकारो स्थित नागेन मोड हेलीपैड पर उतारने का निर्णय लिया है। यहां से बंगाल की सीमा सटी हुई है और पुरुलिया के ठीक पास में है। अपराहन 2:50 बजे योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर बोकारो में उतरेगा। वहां से वह सड़क मार्ग से अपने काफिले के साथ पुरुलिया में जनसभा स्थल पर पहुंचेंगे।

उल्लेखनीय है कि 2 दिन पहले बालूरघाट में जनसभा के लिए भी पश्चिम बंगाल सरकार ने योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी थी जिसके बाद उन्होंने लखनऊ से ही फोन पर जनसभा को संबोधित किया था। अब पुरुलिया की जनसभा को रोकने के लिए भी पश्चिम बंगाल सरकार ने यही रणनीति अपनाई थी लेकिन भाजपा ने ममता की कोशिशों को विफल करते हुए आखिरकार योगी आदित्यनाथ की जनसभा को सफल बनाने की कोशिशें तेज कर दी है। प्रदेश भाजपा की ओर से स्पष्ट किया गया है कि मंगलवार को पुरुलिया जिले में होने वाली योगी आदित्यनाथ की जनसभा को ममता रोक नहीं पाएंगी। सुबह के समय पार्टी की ओर से बताया गया है कि आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर दोपहर 2.50 बजे झारखंड के बोकारो के नगेन मोड़ पर लैंड करेगा। यह पश्चिम बंगाल की सीमा से सटा हुआ इलाका है। यहां से सीएम अपने काफिले के साथ रोड से सफर करते हुए पुरुलिया जाएंगे और जनसभा को संबोधित करेंगे। गत रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ दक्षिण दिनाजपुर जिले के बालुरघाट और उत्तर दिनाजपुर जिले के रायगंज में दो रैलियों को संबोधित करने वाले थेे, लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने योगी के हेलीकॉप्टर को यहां उतरने की अनुमति नहीं दी थी।

गौरतलब हो कि पश्चिम बंगाल में बढ़ती तकरार के बाद भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को चुनाव आयोग से मिला था| उन्होंने पश्चिम बंगाल में 'हिंसा मुक्त और निष्पक्ष' माहौल में आगामी लोकसभा चुनाव कराने का अनुरोध किया है। भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने चुनाव आयोग के साथ बैठक के बाद कहा, 'पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा जारी हिंसा के मद्देनजर, हमने चुनाव आयोग से राज्य में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण माहौल में लोकसभा चुनाव कराने का अनुरोध किया है।' उन्होंने कहा, तृणमूल कार्यकर्ताओं ने हाल ही में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली में भाग लेने वालों पर हमला किया था। इधर कोलकाता में ममता बनर्जी सीबीआई कार्रवाई को लेकर धरने पर बैठी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि दोनों पार्टियों के बीच राजनीतिक तकरार काफी बढ़ने वाली है।


Share it
Top