जब कांग्रेस हारती है तो बताती है ईवीएम में गडबडी, जब तीन राज्यों में जीती तब क्यों नहीं उठाया ईवीएम पर सवाल : बराला

जब कांग्रेस हारती है तो बताती है ईवीएम में गडबडी, जब तीन राज्यों में जीती तब क्यों नहीं उठाया ईवीएम पर सवाल : बराला


रोहतक। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि प्रदेश की जनता ने सुशासन, भ्रष्टाचारमुक्त व पारदर्शिता पर विश्वास करते हुए भाजपा को जीत दिलाई है, जिससे साफ है कि प्रदेश की जनता सरकार की नीतियों से पूरी तरह से खुश है। जींद उपचुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस हारती है तभी वह ईवीएम में गड़बड़ी बताती है, जब पंजाब में कांग्रेस की सरकार बनी तो मुख्यमंत्री अरमिन्द्र सिंह ने कहा था कि ईवीएम पर पूरा भरोसा है।

इसके अलावा हाल ही में तीन राज्यों में कांग्रेस ने जीत दर्ज करवाई तो उस वक्त ईवीएम पर सवाल क्यो नहीं उठाए। उन्होंने कहा कि जब कोई हारता है तो इस तरह के आरोप लगाए जाते है। साथ ही सुभाष बराला ने इनेलो पर भी निशाना साधा और कहा कि उनके पास तो अपना प्रत्याशी नहीं था। उन्होंने तो उधार का प्रत्याशी मैदान में उतार रखा था। वीरवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला रोहतक पहुंचे और पार्टी कार्यकत्र्ताओं को जीत की बधाई दी। बाद में पत्रकारो से रूबरू होते हुए उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि यह देश में पहली बार हुआ है जब उपचुनाव में मौजूदा विधायक को उतारा हो। प्रदेश की जनता को कांग्रेस के बारे में पता चल चुका है कि दस साल के शासनकाल के दौरान कांग्रेस ने किस तरह से प्रदेश को लूटा था।

साथ ही उन्होंने कहा कि राजस्थान, छतीसगढ व मध्यप्रदेश में कांग्रेस चुनाव जीती तो उस वक्त ईवीएम पर सवाल नहीं उठाए। साफ है कि जब कांग्रेस हारती है तो ईवीएम पर सवाल उठाती है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का प्रदेश में कोई जनाधार नहीं है और जजपा ने परिवारवाद को बढावा देने के लिए दिग्विजय सिंह चौटाला को मैदान में उतारा था। उन्होंने कहा कि जींद की जनता ने सरकार की नीतियों पर मोहर लगाई है। लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव करवाए जाने पर भी भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने प्रतिक्रिया दी और कहा कि तय समय पर ही प्रदेश में विधानसभा चुनाव होगे। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा की बात का भी समर्थन किया और कहा कि कुछ लोगों ने अपने रास्ते का कांटा निकालने का काम किया है।

Share it
Top