किसान आभार सम्मेलन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किया ऐलान... केन्द्र में आने पर कांग्रेस गरीबों को देगी न्यूनतम आय की गारंटी

किसान आभार सम्मेलन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किया ऐलान... केन्द्र में आने पर कांग्रेस गरीबों को देगी न्यूनतम आय की गारंटी

रायपुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर उद्योगपतियों के हितैषी तथा किसान एवं गरीब विरोधी होने के तीखे आरोप लगाते हुए कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में सत्ता में आने पर कांग्रेस गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी का अधिकार प्रदान करेंगी। श्री गांधी ने आज यहां के अटल नगर (नया रायपुर) में आयोजित किसान आभार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि महात्मा गांधी रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) के जरिए लोगों को रोजगार, भोजन का अधिकार कानून के तहत भोजन की सुरक्षा और सूचना अधिकार कानून के तहत ब्यूरोक्रेसी के बन्द दरवाजों को खोलने का काम कांग्रेस ने किया और अब और आगे कदम बढाते हुए 2०19 में सत्ता में आने पर गरीबों को वह न्यूनतम आय की गारंटी का अधिकार प्रदान करेंगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में किसी भी देश ने अभी तक न्यूनतम आय की गारंटी का अधिकार प्रदान नही किया है,इस ऐतिहासिक कार्य को हिन्दुस्तान में कांग्रेस करेंगी। इसके तहत लोगों के बैंक खाते में प्रति माह एक निश्चित राशि सरकार की ओर से डाली जायेंगी, जिससे कि गरीब भी बेहतर जिन्दगी जी सके। उन्होंने कहा कि कोई न तो भूखा रहेगा और न ही गरीब। इसे साकार कर वह दिखा देंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए श्री गांधी ने कहा कि मोदी दो हिन्दुस्तान बनाना चाहते है, पहला हिन्दुस्तान अंबानी, मेहुल चौकसी, नीरव मोदी, विजय माल्या एवं उनके उद्योगपति मित्रों का है, जिसमें जमीन, पानी, बिजली, ऋण जो भी चाहिए मिल जायेगा, जबकि दूसरा हिन्दुस्तान गरीबों, किसानों, मजदूरों और बेरोजगारों का बनाना चाहते हैं, जिसके लिए उनके पास कुछ नही है। कांग्रेस ऐसा नही होने देगी। श्री गांधी ने राफेल लड़ाकू विमानों का अनुबंध हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) से छीनकर अनिल अबांनी की कम्पनी को दिए जाने के आरोपो को दोहराते हुए कहा कि दुनिया के इस सबसे बड़े रक्षा सौदे का लाभ सार्वजनिक कम्पनी की बजाय अंबानी को पहुंचाया गया है।इससे देश के बेरोजगारों को भी भारी नुकसान हुआ है। विमानों के फ्रांस में बनने से भारत की बजाय वहां के युवाओं का फायदा हुआ है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री मोदी पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी जहां जाते है, किसानों को उनकी उपज की लाभकारी कीमत देने की बात करते है, लेकिन सच यह है कि देश का किसान दर्द में जी रहा है। उसकी उपज का सही दाम नही मिल रहा है। किसान अपना पैसा फसल बीमा के लिए देता है और नुकसान होने पर वह वापस नही मिसता है। इससे अंबानी जैसो की कम्पनियों को भारी फायदा होता है। श्री मोदी पर यूपीए सरकार के भूमि अधिग्रहण कानून को कांग्रेस के विरोध के कारण बदलने में असफल रहने पर भाजपा शासित राज्यों में इसे रद्द करवाने का आरोप लगाते हुए उन्होने कहा कि यह किसानों के साथ नाइंसाफी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश एवं राजस्थान की कांग्रेस सरकारे किसानों की जमीन बगैर उनकी और पंचायत की मर्जी के नही लेगी,और पांच वर्ष में अधिग्रहित भूमि पर कोई काम नही होने पर उसे किसानों को वापस भी करेंगी। उन्होंने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के बस्तर के लोहांडीगुड़ा में टाटा के लिए अधिग्रहित वर्षों से पड़ी भूमि को किसानों को वापस करने के निर्णय की सराहना करते हुए कहा कि बस्तर के लोगों से किया, उनका वादा सरकार ने चंद दिनों में पूरा कर दिया। उन्होंने राज्य में किसानो का कर्ज को 1० दिनों में माफ करने का वादा महज सरकार बनने के 24 घंटे में पूरा करने के लिए भूपेश सरकार की सराहना करते हुए कहा कि 15 वर्षों तक राज्य में सत्ता में रही भाजपा ने कभी इस बारे मे नही सोचा।

Share it
Top