नितिन गडकरी के बोल.. मैं सपने दिखाने वाले नेताओं में से नहीं हूं, जो कहता हूं वो करता हूं

नितिन गडकरी के बोल.. मैं सपने दिखाने वाले नेताओं में से नहीं हूं, जो कहता हूं वो करता हूं


नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मैं सपने दिखाने वाले नेताओं में से नहीं हूं। मैं जो कहता हूं डंके की चोट पर करता हूं। उसे 100 प्रतिशत करता हूं। एएनआई के अनुसार, गडकरी ने कहा, "सपने दिखाने वाले नेता लोगों को अच्छे लगते हैं, पर दिखाए हुए सपने अगर पूरे नहीं किए तो जनता उनकी पिटाई भी करती है। इसलिए सपने वही दिखाओ, जो पूरे हो सके। मैं सपने दिखाने वाले में से नहीं हूं। मैं जो बोलता हूं वो 100 प्रतिशत डंके की चोट पर पूरा करता हूं।" मोदी सरकार के मंत्री ने यह बयान महाराष्ट्र में ईशा कोप्पीकर को पार्टी में शामिल कराने के कार्यक्रम में दिया है।

बता दें कि कुछ समय से नितिन गडकरी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाए जाने की मांग हो रही है। एनडीए में शामिल पार्टी शिवसेना ने गडकरी को पीएम पद के योग्य बनाया है। शिवसेना ने कहा था कि आगामी चुनाव में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिलेगा। वैसी स्थिति में नितिन गडकरी पीएम पद के दावेदार के रूप में उभर सकते हैं।

नितिन गडकरी के इस बयान के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने भी कई तरह के कमेंट दिए। यूजर्स ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कमेंट किया।नितिन गडकरी ने गोवा में माण्डवी ब्रिज के लोकार्पण पर कहा, "गोवा में माण्डवी ब्रिज का लोकार्पण हो रहा है। मुझे खुशी है की इसका निर्माण 27 जुलाई -2014 को प्रारंभ हुआ और दिसम्बर-2018 में पूरा किया गया।" माण्डवी नदी पर 850 करोड़ रुपये की लागत से 5.1 किलोमीटर लंबे फोरलेन, केबल स्टे ब्रिज का निर्माण किया गया है। यह ब्रिज नार्थ और साउथ गोवा को जोड़ता है। इससे पणजी को बेंगलुरु से पोंडा मार्ग और पुराने गोवा तथा मुंबई से आने-जाने वालों को सुगम यातायात मिलेगा। इससे पहले शनिवार को दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान नितिन गडकरी ने कहा था, "मैंने 10 लाख करोड़ से ज्यादा के काम करवाए, लेकिन एक रुपये के भष्टाचार का आरोप नहीं लग सकता है। मैं हवा में घोषणा नहीं करता हूं, जो बोलता हूं डंके की चोट पर कर के दिखाता हूं।"

Share it
Top