मध्यप्रदेश: गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में महिला मंत्री नहीं पढ़ पायीं मुख्यमंत्री का संदेश

मध्यप्रदेश: गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में महिला मंत्री नहीं पढ़ पायीं मुख्यमंत्री का संदेश




भोपाल। मध्यप्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी आज ग्वालियर में गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन भी नहीं कर पायीं और उनका यह दायित्व कलेक्टर ने निभाया।

गणतंत्र दिवस के मौके पर ग्वालियर संभाग मुख्यालय पर आयोजित गरिमामय समारोह में उस समय अप्रिय स्थिति बन गयी, जब महिला मंत्री इमरती देवी ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन प्रारंभ किया। वे अटक अटक कर एक पंक्ति भी नहीं पढ़ पायीं। आखिरकार डायस के पास खड़े कलेक्टर के संकेत पर मंत्री ने कहा कि अब कलेक्टर पढ़ेंगे। इतना कहते ही कलेक्टर ने संदेश का वाचन शुरू किया और वहां मौजूद लोग अपनी हंसी नहीं रोक पाए।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर 25 दिसंबर को शपथ ग्रहण की थी। इसके बाद उन्हें महिला एवं बाल विकास जैसे महत्वपूर्ण विभाग का दायित्व भी सौंपा गया। वे ग्वालियर जिले के डबरा से कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुनी गयी हैं। उन्होंने हाईस्कूल तक शिक्षा हासिल की है।

इस संपूर्ण घटनाक्रम का वीडियो आज सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष विजेश लूनावत ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है 'ग्वालियर में रिपब्लिक डे परेड में मंत्री श्रीमती इमरती देवी का भाषण प्रभावी और जोशीला रहा। अवश्य सुनिए'

इसी तरह सागर संभाग मुख्यालय पर गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ध्वजारोहण के बाद राष्ट्र गान के समय तत्काल सलामी की मुद्रा में नहीं आ पाए। वे राष्ट्र गान के समय सीधे खड़े हुए थे, तभी कलेक्टर ने उन्हें सलामी की मुद्रा में आने का इशारा किया। इसके बाद मंत्री सलामी की मुद्रा में आए और अपना दाया हाथ माथे पर ले जाकर सलामी दी। यह वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।


Share it
Top