चुनाव आयोग ने लोगों में भरोसा पैदा किया:राष्ट्रपति

चुनाव आयोग ने लोगों में भरोसा पैदा किया:राष्ट्रपति

नयी दिल्ली राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि चुनाव आयोग ने देश की चुनाव प्रणाली को पारदर्शी तथा निष्पक्ष बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और मतदाताओं में विश्वसनीयता पैदा की है।

श्री कोविंद ने शुक्रवार को यहां गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 9वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह की अध्यक्षता करते हुए यह विचार व्यक्त किये। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस बार राष्ट्रीय मतदाता दिवस की थीम 'कोई मतदाता वंचित न रह जाय' रखा था। राष्ट्रपति ने चुनाव आयोग द्वारा निष्पक्ष एवं समावेशी चुनाव कराये जाने के लिए उठाये गये कदमों की तारीफ करते हुए कहा कि चुनाव आयोग देश के सुदूर मतदाताओं के नाम को भी मतदाता सूची में डाल कर उन्हें मताधिकार के इस्तेमाल के लिए प्रेरित किया है।

उन्होंने पिछले दिनों गुजरात के गिर जंगल की अपनी यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें यह जानकर प्रसन्नता महसूस हुई कि उस जंगल के भीतर केवल एक मतदाता के लिए भी मतदान केंद्र बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस के एक दिन पहले हमारे संविधान निर्माताओं ने चुनाव आयोग की स्थापना कर यह संदेश दिया है कि लोकतंत्र के प्रति उनकी गहरी आस्था और सम्मान भाव है।

उन्होंने कहा कि आयोग ने 'स्वीप' जैसे कार्यक्रम और मतदाता क्लब स्थापित कर एवं महिलाओं द्वारा कुछ मतदान केंद्रों को संचालित करने की परम्परा शुरू कर एक अच्छा कार्य किया है। इस अवसर पर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने राष्ट्रपति को आयोग की पत्रिका 'माई वोट मैटर्स' की प्रति भेंट की।

समारोह को संबोधित करते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भारतीय लोकतंत्र को मजबूत बनाने में आयोग की भूमिका की सराहना की और कहा कि उसने देश में मुक्त एवं निष्पक्ष चुनाव कराने में देशवाशियों का विश्वास जीता है और चुनाव प्रक्रिया की प्रवित्रता को बनाए रखा है।

मुख्य चुनाव आयोग श्री अरोड़ा ने बताया कि आयोग ने आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों को दर्ज कराने के लिए "ई-विजिल" कार्यक्रम शुरू किया है जिसके तहत कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत को लेकर अपना फोटो या वीडियो अपलोड कर सकता है।

समारोह को चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर भारतीय रेलवे और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को चुनाव सामग्री के पहुंचाने में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए सम्मानित भी किया गया।

इस अवसर पर कई देशों के प्रतिनिधियों के अलावा पद्यभूषण मेरी कोम भी मौजूद थी जिन्हें आयोग ने अपना ब्रांड अंबेसडर भी बनाया है।

Share it
Top