काशी में युवा प्रवासी भारतीय सम्मेलन का आगाज, मुख्यमंत्री और विदेश मंत्री ने किया उद्घाटन

काशी में युवा प्रवासी भारतीय सम्मेलन का आगाज, मुख्यमंत्री और विदेश मंत्री ने किया उद्घाटन


वाराणसी। धर्म नगरी वाराणसी में सोमवार को तीन दिवसीय 15वें युवा प्रवासी भारतीय सम्मेलन का औपचारिक शुभारम्भ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच दीप जलाकर संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, केन्द्रीय सूचना प्रसारण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राज्यवर्धन सिंह राठौर, नार्वे के सांसद हिमांशु गुलाटी, न्यूजीलैंड के सांसद कंवलजीत सिंह बख्शी भी मौजूद रहे। इस दौरान केन्द्रीय विदेश सचिव ने अतिथियों का स्वागत किया। सम्मेलन का विधिवत उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को करेंगे।

शहर में पहली बार आयोजित हो रहे सम्मेलन में भाग लेने के लिए दुनिया के 75 देशों के हजारों प्रवासी मेहमान सुबह से ही दुल्हन की तरह सजे बड़ा लालपुर स्थित पंडित दीन दयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल में पहुंचने लगे हैं। यहां मेहमानों का भारतीय परम्परा के साथ गर्मजोशी से स्वागत किया गया। संकुल के सभागार में पूर्वाह्न में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, केन्द्रीय सूचना प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, नार्वे के सांसद हिमांशु गुलाटी, न्यूजीलैंड के सांसद कंवलजीत सिंह बख्शी सहित अन्य मेहमान पहुंचे।

सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में नार्वे के युवा सांसद हिमांशु गुलाटी प्रवासी मेहमानों को नार्वे की खुशहाली का राज बताएंगे। न्यूजीलैंड में भारतवंशी सांसद कंवलजीत सिंह बक्शी आर्थिक तरक्की का गुरुमंत्र सुझाएंगे। दोपहर बाद देशभर के करीब छह सौ युवाओं संग बीएचयू में संवाद देश के भविष्य की बुनियाद मजबूत करेगा। सम्मेलन में भाग लेने के लिए मॉरीशस, त्रिनिडाड, फिजी, सऊदी अरब, कनाडा, यूएसए, यूके, मलेशिया, जर्मनी, फ्रांस समेत कई देशों के ज्यादातर प्रवासी मेहमान काशी पहुंच चुके हैं। पहले दिन हस्तकला संकुल में सम्मेलन की थीम 'नए भारत के निर्माण में प्रवासी भारतीयों की भूमिका' है।


Share it
Top