दो माह से फोन नहीं उठा रहे बसपा के सतीश चन्द्र मिश्रा..!

दो माह से फोन नहीं उठा रहे बसपा के सतीश चन्द्र मिश्रा..!



नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन व सीटों के बंटवारे की घोषणा होने के दो माह पहले से बसपा प्रधान महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा फोन नहीं उठा रहे थे। क्योंकि वह गठबंधन की बात को लुके-छिपे रखना चाहते थे | इससे बारे में उनके कई विश्वास पात्रों का कहना है कि उसके पहले उनसे हर हप्ते बात हो जाती थी। लेकिन अकस्मात उनके फोन नहीं उठाने व बातचीत करने से कन्नी काटने के कारण लगने लगा कि कुछ तो है जिसके कारण मिश्रा जी महीन चाल चल रहे हैं। लेकिन जब 12 जनवरी 2019 को दिन के 12 बजे बसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ में संयुक्त संवादादाता सम्मेलन करके सपा-बसपा के गठबंधन की घोषणा कर दी | राज्य के 80 लोकसभा सीटों में से 38 पर सपा , 38 पर बसपा के लड़ने का खुलासा कर दिया, उसके बाद सबको पता चला कि मिश्रा जी क्यों इस दौरान फोन नहीं उठा रहे थे। उनके एक घनिष्ठ सांसद का कहना है कि बहुत से नेताओं को अपने फोन टेप कराये जाने की आशंका है ।

सो गतिविधियों और रणनीति का खुलासा नहीं हो सके , इसके लिए इन दिनों बहुत से विपक्षी नेता फोन उठाने, उस पर बातचीत करने से बचने लगे हैं। इसीलिए सतीश चन्द्र मिश्रा भी फोन नहीं उठा रहे हैं। और उठाते भी हैं तो मिलने पर बाद में बात करने को कह कर नमस्कार कर लेते हैं। इस बारे में उ.प्र. के वरिष्ठ पत्रकार नवेन्दु का कहना है कि सतीश चन्द्र मिश्रा पहले तो मिलते थे, बात करते थे। इधर सपा से गठबंधन के कुछ माह पहले से उपलब्ध नहीं हो रहे हैं, ना ही फोन उठा रहे हैं। गठबंधन हो जाने के बाद भी अभी पहले की तरह से सहजता से बात नहीं कर रहे हैं। हो सकता है सीटों के बंटवारे तक ऐसा करें । ताकि जाने – अनजाने खुछ ऐसी सूचना नहीं लीक हो जाये, मुंह से कुछ ऐसा नहीं निकल जाये जिससे पार्टी व गठबंधन को नुकसान हो।


Share it
Top