जो कहा वो किया, जो किया वो आपके सामने : गडकरी.....हमारा काम ही हमारी सरकार की सबसे बड़ी ताकत है

जो कहा वो किया, जो किया वो आपके सामने : गडकरी.....हमारा काम ही हमारी सरकार की सबसे बड़ी ताकत है

नयी दिल्ली। सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पूर्ववर्ती सरकारों की कथनी और करनी में अंतर का आरोप लगाते हुये आज कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत मोदी सरकार ने जो कहा वो किया और जो किया वह सबके सामने है। श्री गडकरी ने यहां रामलीला मैदान में पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन राजनीतिक प्रस्ताव पेश करते हुये कहा कि मौजूदा सरकार ने आर्थिक, शैक्षणिक, सुशासन, तकनीक सहित सभी मोर्चों पर देश को आगे बढ़ाने का काम किया है। पहले 50-60 साल में जो नहीं हुआ वह इस सरकार ने साढ़े चार साल में कर दिखाया है। उन्होंने कहा ,'' पहले की सरकारों की कथनी और करनी में अंतर होता था, इस बार ऐसा नहीं है। हमने जो कहा वो किया, जो किया वह आपके सामने है। हमारा काम ही हमारी सरकार की सबसे बड़ी ताकत है। केंद्रीय मंत्री ने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुये प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, जनधन, उज्ज्वला, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री आवास योजना, फसल बीमा योजना, सड़क, एक्सप्रेस-वे, जलमार्गों, बंदरगाहों और हवाई अड्डों के निर्माण में तेजी तथा जीएसटी और करदाताओं की संख्या में वृद्धि का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि जब मोदी सरकार वर्ष 2014 में सत्ता में आयी थी उस समय भ्रष्टाचार चरम पर था। भारत की गिनती पांच सबसे कमजोर देशों में होती थी। देश की साख नीचे आयी थी। साढ़े चार साल में देश तरक्की की राह पकड़ चुका है। यह दुनिया की सबसे तेजी से बढऩे वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है। सामाजिक और आर्थिक मोर्चों पर बदलाव हुये हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश को स्वामी विवेकानंद के सपनों का भारत बनाने के लिए कार्यकर्ताओं और लोगों से भाजपा को वोट देने की अपील की। आगामी लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी दलों की एकजुटता पर कहा कि ये वे दल हैं जो कभी एक-दूसरे की सूरत देखना भी पसंद नहीं करते। आज ये राजनीतिक स्वार्थ के लिए एक साथ आये हैं। उन्होंने कटाक्ष करते हुये कहा —'जब भी जी चाहे नयी दुनिया बसा लेते हैं लोग, एक चेहरे पे कई चेहरा लगा लेते हैं लोग।' [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध, ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

Share it
Top