अब वाहन निर्माता कंपनी लगा कर देंगी 'फास्टैग' : राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी

अब वाहन निर्माता कंपनी लगा कर देंगी फास्टैग : राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी

नयी दिल्ली- सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि टोल प्लाजा पर कर भुगतान के लिए वाहनों की लम्बी कतारें नहीं लगें इसे रोकने के लिए शुरू की गई 'फास्टैग' प्रणाली को अब वाहन निर्माता कंपनियां वाहनों पर लगाकर देंगी। श्री गडकरी ने सोमवार को यहां तेल कंपनियों को पेट्रोल पम्पों पर 'फास्टैग' बेचने के लिए हुए समझौते के अवसर पर कहा कि पांच बैंकों को यह काम सौंपा गया था लेकिन वहां संतोषजनक परिणाम नहीं मिले हैं। अब तेल कंपनियों को यह काम सौंपा जा रहा है और उन्हें भरोसा है कि इसके अच्छे परिणाम सामने आएंगे। तेल कंपनियों को इसके लिए एक सौ रुपए प्रति टैग दिया जाएगा। श्री गडकरी तथा पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की मौजूदगी में मंत्रालय के लिए फास्टैग का जिम्मा संभाल रहे भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (आईएचएमसीएल) तथा सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों के अधिकारियों ने इस आशय के समझौते पर यहां हस्ताक्षर किए। हस्ताक्षर आईएचएमसीएल तथा सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनी आईओसीएल, बीपीसी तथा एचपीसी के अधिकारियों के बीच यह समझौता हुआ है। आईएचएमसीएल भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की सहयोगी कंपनी है। आईओसीएल इस समझौते के तहत सुनिश्चित करेगी कि फास्टैग देशभर में सभी पेट्रोल पम्पों पर उपलब्ध हो। यह कार्य चरणबद्ध तरीके से पूरे देश में किया जाएगा। इसके तहत पहले चरण में दिल्ली तथा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 50 पेट्रोल पम्पों पर टैग उपलब्ध कराए जाएंगे। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने आईएचएमसीएल को राष्ट्रीय स्तर पर टोल प्लाजा पर इलेक्ट्रोनिक आधार पर कर संग्रह क्रियान्वयन की जिम्मेदारी मिली हुई है। देश में इस प्रणाली के क्रियान्वयन के लिए 2016 में फास्टैग प्रणाली अप्रैल 2016 में शुरू की गयी थी। इस कार्यक्रम को जबरदस्त सफलता मिली है और अब तक यह प्रणाली विभिन्न राजमार्गो पर 450 से ज्यादा टोल प्लाजा पर शुरू की जा चुकी है। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध, ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

Share it
Top