बुलन्दशहर हिंसा में हैरान करने वाला खुलासा...आर्मी के जवान ने मारी थी इंस्पेक्टर को गोली!

बुलन्दशहर हिंसा में हैरान करने वाला खुलासा...आर्मी के जवान ने मारी थी इंस्पेक्टर को गोली!

बुलन्दशहर। बुलंदशहर हिंसा मामले में एक बहुत ही आश्चर्य करने वाली खबर सामने आई है। बताया जाता है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या एक आर्मी जवान ने की है, जिसका नाम जीतू फौजी है। शहीद कोतवाल की हत्या में जीतू फौजी नामक सेना कर्मी की संलिप्तता के बारे में पूछे जाने पर पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि जीतू इंस्पेक्टर हत्याकांड मामले में नामजद अभियुक्त है। शुरूआती पड़ताल के मुताबिक वह जम्मू-कश्मीर में तैनात है। पुलिस की एक टीम वहां गई है और उम्मीद है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि घटना में जीतू की क्या भूमिका थी, यह विशेष जांच दल (एसआईटी) की तफ्तीश में पता चलेगा। यह भी बताया जाता है कि वायरल वीडियो में भी फौजी अवैध कट्टे के साथ देखा गया है। इसी को आधार बनाकर पुलिस जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर में तैनात आर्मी मैन जीतू छुट्टी पर घर आया था। इस दौरान हिंसा होने पर जीतू फौजी की गोली से ही इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हुई है। बताया जा रहा है कि वह उस दिन घटनास्थल पर कई बार देखा भी गया था। घटना के बाद वह तुरंत जम्मू-कश्मीर फरार हो गया। इसके बाद पुलिस की दो टीमें जीतू को पकडऩे के लिए जम्मू-कश्मीर रवाना हो गई हैं। इसमें एक टीम यूपी एसटीएफ की है और दूसरी टीम यूपी पुलिस की। आरोपी जीतू फौजी बीएसएफ का जवान है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जवान जीतू की जिस यूनिट में तैनाती है, वहां के अधिकारियों से यूपी पुलिस अधिकारियों की बातचीत भी हुई है। अधिकारियों ने पुलिस की जांच में सहयोग करने की बात कही है। बताया जा रहा है कि अधिकारियों ने जवान को पुलिस को सौंपने का आश्वासन दिया है।
वहीं उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की स्याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने शुक्रवार को पांच और अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पुलिस महानिरीक्षक (अपराध) एस.के. भगत ने यहां पत्रकारों को बताया कि तीन दिसम्बर को स्याना कोतवाली क्षेत्र में गोकशी की घटना के बाद हुई हिंसक झड़प में सुबोध सिंह की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में चंद्र, रोहित, सोनू, नितिन और जितेंद्र को आज गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में अब तक कुल नौ अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में कोई भी नामजद नहीं है। घटना की वीडियो फुटेज और चश्मदीदों की गवाही के आधार पर इनकी गिरफ्तारी की गई है। सभी से पूछताछ की जा रही है। मामले में शामिल अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) एसबी शिरोडकर ने इस मामले में की गई जांच की गोपनीय रिपोर्ट आज सक्षम अधिकारी को भेज दी है। उन्होंने बताया कि एसआईटी की जांच रिपोर्ट में अभी कुछ समय लग सकता है, क्योंकि वह वारदात के एक-एक पहलू पर गौर करके छानबीन कर रही है। गौरतलब है कि गत तीन दिसम्बर को बुलंदशहर के स्याना इलाके के चिंगरावटी क्षेत्र में गोकशी के मामले को लेकर उग्र भीड़ की हिंसा में थाना कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर सुबोध सिंह तथा सुमित नामक एक अन्य युवक की मृत्यु हो गई थी। इस मामले में 27 नामजद लोगों तथा 5०-6० अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
" रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top