दो बच्चों का कानून बनाने के लिए संसद से सड़क तक बहस होनी चाहिए:सिहं

दो बच्चों का कानून बनाने के लिए संसद से सड़क तक बहस होनी चाहिए:सिहं

अमरोहाकेंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री गिरीराज सिहं ने जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए देश में दो बच्चों का कानून बनाने तक बहस के माध्यम से संसद से सडक तक संघर्ष जारी रखने का आह्वान किया है।

श्री सिंह ने रविवार को यहां मंडी धनौरा रामलीला मैदान में 'टू चाईल्ड पोलिसी फार आल' के समर्थन में आयोेजित सभा में कहा कि यदि समय रहते भारत अपनी जनसंख्या नीति में बदलाव कर सभी धर्मों के लिए दो बच्चों की नीति लागू नहीं करता है तो चुचैला एवं कैराना जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति होती रहेगी। उन्होंने कहा कि 1947 में धर्म के आधार पर ही देश का विभाजन हुआ वैसी ही परिस्थिति पुनः 2047 तक हो जाएगी। उन्होंने कहा कि 72 साल में जनसंख्या 33 से बढ़कर 135.7 करोड़ पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि विभाजनकारी ताक़तों का जनसंख्या विस्फोट भयावह है।

उन्होंने कहा कि अभी तो धारा 35 ए की बहस पर हंगामा हो रहा है और आने वाले वक़्त में तो अखंड भारत का ज़िक्र करना भी मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देश की जनसंख्या 136 करोड होने पर कश्मीर मुद्दे, 35-ए जैसे देशहित से जुडे मुद्दे बहस होने से पूर्व हंगामा शुरू कर दिया जाता रहा है, आने वाले समय में अखंड भारत की बात करने पर तो बखेड़ा खड़ा कर दिया जाएगा। वोट के सौदागर इस मुद्दे को धर्म से जोड देते हैं। यह मामले किसी दल या सरकार के मुद्दे नहीं हैं बल्कि देश की समरसता, एकता, अखंडता और देश के विकास से जुडे मुद्दे हैं।

Share it
Top