हाईकोर्ट की एनडीएमसी को फटकार, गैर इलाके के रहने वाले दो बच्चों को स्कूल में दाखिला देने का आदेश

हाईकोर्ट की एनडीएमसी को फटकार, गैर इलाके के रहने वाले दो बच्चों को स्कूल में दाखिला देने का आदेश



नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को एक महत्वपूर्ण फैसले में न्यू दिल्ली म्युनिसिपल काउंसिल (एनडीएमसी) के उस सर्कुलर को मनमाना और गैरकानूनी करार दिया है, जिसमें एनडीएमसी इलाके में आवास नहीं होने की वजह से एक बच्चे को नवयुग स्कूल में दाखिला देने से रोका गया है। जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल ने एनडीएमसी के इस सर्कुलर को संविधान की धारा 14 का उल्लंघन करार दिया।

हाईकोर्ट ने नवयुग स्कूल को रोहित कुमार को कक्षा छह और सचिन कुमार को कक्षा आठ में दाखिला देने का निर्देश दिया। हाईकोर्ट ने दोनों बच्चों को स्कूल की कक्षा में शामिल करने का आदेश दिया।

दोनों छात्रों का प्रोविजनल एडमिशन इस आधार पर रद्द कर दिया गया कि वे एनडीएमसी इलाके में नहीं रहते हैं। तब इन दोनों छात्रों ने वकील अशोक अग्रवाल के जरिए दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। याचिका में कहा गया था कि दोनों छात्र एनडीएमसी इलाके में नहीं रहते हैं, इसलिए वे यहां का आवास प्रमाण पत्र नहीं दे सकते हैं।


Share it
Share it
Share it
Top