पीयूष गोयल ने किया 'रेल सहयोग' पोर्टल लांच, यात्री सुविधाओं में सहयोग करेंगी निजी कंपनियां

पीयूष गोयल ने किया रेल सहयोग पोर्टल लांच, यात्री सुविधाओं में सहयोग करेंगी निजी कंपनियां



नई दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को 'रेल सहयोग' पोर्टल लॉन्च किया। यह पोर्टल भारतीय रेलवे का एक खास मंच होगा, जिसके जरिए देश के कारोबारी समूह अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वाह रेल के माध्यम से कर सकेंगे।

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि रेल सहयोग के माध्यम से कारोबारी समूह भारत के रेलवे स्टेशनों पर अलग-अलग जन सुविधाओं के लिए अपना योगदान दे सकेंगे। कारोबारी समूह एवं सरकारी कंपनियां रेल यात्रियों के लिए पानी, शौचालय, विश्राम गृह, बैठने की सुविधाएं, वेटिंग रूम, प्रकाश व्यवस्था सहित तमाम सुविधाओं के लिए पैसा लगा सकेंगे।

इसमें सहयोग करने की इच्छुक कंपनियां पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकती हैं। पहले आने वाले आवेदनों को प्रमुखता देते हुए उनके अनुरोधों को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। चयनित लोगों को रिट्स और रेलटेल और ऐसी ही अन्य रेलवे एजेंसियों के साथ पैसा जमा करना होगा। मनोनीत एजेंसी उसके बाद काम पा सकेगी।

सभी स्टेशनों पर शौचालयों का निर्माण और वहां कंडोम वेंडिंग मशीन लगाना, कम लागत वाले सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन, हॉटस्पॉट लगाकर स्टेशनों पर मुफ्त वाईफाई सेवा देना। पर्यावरणीय की दृष्टि से 2175 प्रमुख स्टेशनों पर बोतल क्रशिंग मशीनों की स्थापना भी एक और गतिविधि है। रेलवे यात्रियों द्वारा छोड़ी गई खाली प्लास्टिक की बोतलों को प्लास्टिक प्रदूषण का प्रबंधन करने के लिए इन मशीनों में कुचल दिया जाएगा। इसकी लागत लगभग 3.5 लाख से 4.5 लाख रुपये है।


Share it
Share it
Share it
Top