शिवराज चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा पर पथराव के बाद गृहमंत्री का बयान...मुख्यमंत्री की हत्या की थी साजिश

शिवराज चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा पर पथराव के बाद गृहमंत्री का बयान...मुख्यमंत्री की हत्या की थी साजिश

चुरहट/सागर/सीधी। मध्यप्रदेश के सीधी जिले के चुरहट में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा पर अज्ञात तत्वों द्वारा कथित तौर पर पथराव का मामला सामने आया है। पथराव की घटना के बाद मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने आज यहां सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि सीधी जिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान हुई घटना सिर्फ पथराव नहीं, बल्कि यह मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश थी। पुलिस ने इस मामले में नौ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के विधानसभा क्षेत्र चुरहट में हुए इस मामले के बाद भारतीय जनता पार्टी ने जहां एक ओर इसे कांग्रेस की बौखलाहट बताया है, वहीं कांग्रेस ने पूरे मामले से पल्ला झाड़ लिया है। घटना में मुख्यमंत्री पूरी तरह सुरक्षित हैं। कल देर रात चुरहट में अज्ञात लोगों ने श्री चौहान के रथ पर कथित तौर पर पत्थर फेंके। इसके बाद श्री चौहान ने मंच से नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह का नाम लेते हुए कहा कि छिपकर पत्थर फेंकने वालों में अगर ताकत है, तो वे सामने आकर मुकाबला करें। उन्होंने कहा कि वे इन कायराना हरकतों से डरने वाले नहीं हैं और उनके साथ पूरी जनता है। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश की राजनीति को कहां ले जाएगी, मध्यप्रदेश में हिंसा की राजनीति को कभी स्थान नहीं मिला है। वहीं घटना के सामने आने के फौरन बाद नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने अपने बयान में कहा कि विरोधियों पर किसी प्रकार की उग्रता की कांग्रेस की संस्कृति नहीं है। उन्होंने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इसमें कोई भी कांग्रेसजन शामिल नहीं है। श्री सिंह ने आशंका जताई कि उन्हें और चुरहट की जनता को बदनाम करने के लिए ये साजिश रची गई है। वहीं भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने भी अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि कांग्रेस गालीगलौज के बाद अब हिंसा पर उतर आई है। कांग्रेस मुख्यमंत्री की लोकप्रियता से घबरा कर राजनीतिक सद्धभावना को भी समाप्त कर रही है। मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा इन दिनों विंध्य क्षेत्र के सीधी से गुजर रही है। दूसरी ओर पथराव की घटना के बाद मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने आज यहां सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि सीधी जिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान हुई घटना सिर्फ पथराव नहीं, बल्कि यह मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश थी। श्री सिंह ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि पहले चुरहट में मुख्यमंत्री के ऊपर हमला करने की साजिश रची गई थी, लेकिन वहां सुरक्षा का घेरा अत्यंत मजबूत होने के कारण हमला नहीं किया गया और कुछ समय के बाद इस हमले को अंजाम दिया गया। श्री सिंह ने कहा कि इस पूरी साजिश को कांग्रेस ने रचा है और अब तक नौ लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, इनमें कुछ लोग कांग्रेस के हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि अभी इस मामले में और भी जांच पड़ताल चल रही है। गृहमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करने वाली कांग्रेस इस निचले स्तर पर उतर आएगी इसकी कल्पना नहीं की जा सकती। यह अत्यंत निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि श्री चौहान की लोकप्रियता और उनकी जनआशीर्वाद यात्रा को मिल रहे अपार जनसमर्थन से बौखलाई कांग्रेस, अब उनकी हत्या की साजिश रच रही है। गृहमंत्री ने कहा कि इस हमले के किसी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि श्री चौहान की जनआर्शीवाद यात्रा से गरीबों को संबल योजना के माध्यम से जीवन का सुरक्षा चक्र दिया है। चुरहट की घटना गरीबों, किसानों, महिलाओं पर हमला हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता के लिए किसी भी सीमा तक जा सकती है। यह कांग्रेस का चरित्र है। उन्होंने निर्देशित किया है कि चौबीस घंटे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी की जाये। आरोपी कोई भी हो बख्शा नही जायेगा।

वहीं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सीधी जिले के पटपरा गांव में जनआशीर्वाद यात्रा पर किए गए पथराव मामले में पुलिस ने नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक नरुण नायक ने आज दूरभाष पर बातचीत में बताया कि कल रात श्री चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान ग्राम पटपरा में अज्ञात तत्वों द्वारा यात्रा में व्यवधान उत्पन्न करने के उद्देश्य से पहले काले कपडे दिखाए गए। इसके बाद यात्रा पर पथराव किया गया। पुलिस द्वारा इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अज्ञात तत्वों को पकडने अलग-अलग टीमें गठित कर तलाश की गयी। इस मामले में पुलिस ने चरण सिंह से संदेह के आधार पर पूछताछ की। पूछताछ के बाद रामभिलास पटेल, पंकज सिंह, गौरव सिंह, रोशन सिंह, सौरव द्विवेदी, शिवेन्द्र सिंह, सौरव सिंह और संजय ङ्क्षसह को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का मानना है कि आरोपी कांग्रेस से जुडे हो सकते हैं, लेकिन अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

Share it
Top