पटवारी के घर लोकायुक्त का छापा, करोड़ों की संपत्ति का खुलासा

पटवारी के घर लोकायुक्त का छापा, करोड़ों की संपत्ति का खुलासा



इंदौर। कलेक्ट्रेट में पदस्थ पटवारी के यहां गुरुवार की सुबह आय से अधिक संपत्ति के मामले में लोकायुक्त पुलिस ने छापामार कार्रवाई की। इस कार्रवाई में तीन फ्लैट, एक मकान और गांव में 60 बीघा जमीन के कागजात के अलावा लाखों रुपए नकदी, जेवरात सहित करोड़ों की संपत्ति का पता चला है। घर से मिले दस्तावेज और बैंक खातों की जानकारी निकाली जा रही है। फिलहाल संपत्ति का आंकलन किया जा रहा है। इसके बाद ही पता चल सकेगा कि कुल कितने की संपत्ति है।

लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी ने बताया कि डीएसपी संतोष सिंह भदौरिया और पीएस बघेल के नेतृत्व में टीमों ने अलग-अलग ठिकानों पर छापे मारे। पटवारी जाकिर हुसैन श्रीनगर मेन में परिवार के साथ किराए से रहते हैं। पत्नी के भाई का घर श्रीनगर एक्सटेंशन में है, वहां भी लोकायुक्त टीम पहुंची। इसके अलावा सिल्वर स्प्रिंग, रेडियो कॉलोनी में भी जाकिर रिश्तेदारों के घर भी लोकायुक्त पुलिस ने जांच की। जैसे ही आज सुबह लोकायुक्त पुलिस की टीम जाकिर के घर पहुंची तो टीम को देख परिवार के होश उड़ गए। जाकिर के पास आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायतें मिली थी। इसके बाद एसपी लोकायुक्त के निर्देश पर अलग-अलग टीमों का गठन कर एक साथ छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

वर्ष 2005 में हुई थी नियुक्ति : जाकिर खजराना हलका नंबर 30 में पटवारी है और 2005 में उसकी नियुक्ति हुई थी। जाकिर की पोस्टिंग भी ज्यादातर इंदौर में ही रही। बीच में एक-दो बार केवल तहसील बदली, लेकिन जोड़-तोड़ कर वापस इंदौर आ गया। इंदौर में उसे सुपर पटवारी के नाम से भी जाना जाता है। जो काम कोई नहीं करवा सकता, वह काम करवाने का दावा भी करता है।

ज्यादातर संपत्ति मामा के नाम : लोकायुक्त पुलिस को उसके घर से जो भी दस्तावेज मिले हैं, उनमें से ज्यादातर उसके मामा सादिक के नाम से हैं| सादिक बैंक में वसूली का काम करता है। छापे में बरामद किए गए दस्तावेजों की जांच में यह भी पता लगाया जाएगा कि कितनी संपत्ति दोनों ने साथ मिलकर खरीदी है।

अभी तक यह संपत्ति मिली : घर से मिले दस्तावेजों से खजराना में एक मकान, उज्जैन में दो फ्लैट, दो प्लॉट और गांव में 60 बीघा जमीन होने की प्रारंभिक जानकारी मिली है। इसके अलावा दो गाड़ियां, एक बाइक और पांच लाख रुपये कैश तथा ज्वेलरी भी मिली हैं। हालांकि उसके घर से मिले दस्तावेजों और अन्य सामान का आकलन किया जा रहा है, इसके बाद संपत्ति की असल कीमत सामने आएगी।

एक माह में दूसरी बड़ी कार्रवाई : लोकायुक्त पुलिस की इसी महीने यह दूसरी बड़ी कार्रवाई है। इसके पहले नगर निगम के बेलदार असलम खान के घर छापा पड़ा था। उसके पास करोड़ों की संपत्ति मिली, जिसकी जांच आज तक जारी है। अब कलेक्टोरेट के पटवारी जाकिर हुसैन घेरे में आ गया।


Share it
Share it
Share it
Top