आचार्य बालकृष्ण के नाम से देता था नौकरी का झांसा, फेक आईडी बनाकर लड़कियों को कर रहा था अश्लील मैसेज, गिरफ्तार

आचार्य बालकृष्ण के नाम से देता था नौकरी का झांसा, फेक आईडी बनाकर लड़कियों को कर रहा था अश्लील मैसेज, गिरफ्तार


नोएडा। पतंजलि समूह के सीईओ आचार्य बालकृष्ण के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके अनुयायियों के साथ अशोभनीय भाषा में चैटिंग करने के आरोपित को थाना सेक्टर-20 पुलिस ने दबोच लिया। पकड़े गए आरोपित का नाम मोहम्मद जीशान है। वह अपनी पोस्ट में लड़कियों को पतंजलि समूह में नौकरी दिलवाने व हिंदू धर्म के खिलाफ कथित अभद्र टिप्पणी करता था।

एसएचओ मनीष सक्सेना ने बताया कि मोहम्मद जीशान जिला सहारनुपर का रहने वाला है। उसने आचार्य बालकृष्ण के नाम और फोटो के साथ फर्जी फेसबुक अकाउंट बना रखा था। बालकृष्ण का नाम और फोटो होने से इस अकाउंट पर बड़ी संख्या में उनके अनुयायी जुड़ गए थे। आरोप है कि अपनी पोस्टों में आरोपित अभद्र भाषा का इस्तेमाल करता था और विरोध करने पर गालीगलौज पर उतर आता था। इस पर 4 जुलाई को सेक्टर-5 स्थित वैदिक ब्रॉडकास्टिंग लिमिटेड के सीईओ प्रमोद जोशी ने थाना सेक्टर-20 में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसके बाद से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। शनिवार को उसे सेक्टर-10 से पकड़ लिया गया।

पूछताछ में आरोपित ने बताया कि उसने यह फेसबुक आईडी लड़कियों को फंसाने के लिए बनाई थी। वह खुद को आचार्य बालकृष्ण बताते हुए लड़कियों को पतंजलि में नौकरी दिलाने का लालच देता था। इसके बदले वह लड़कियों से प्रोसेस फीस की डिमांड करता था। यह रकम जमा होते ही वह पीड़िताओं को फेसबुक से अनफ्रेंड कर देता था। आरोपित ने ठगी के ऐसे करीब एक दर्जन मामलों में अपना हाथ होना कबूल किया। पुलिस से बचने के लिए आरोपित बार-बार अपना ठिकाना भी बदल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर पतंजलि ग्रुप के प्रवक्ता एस के तिजारा ने ट्वीट करके नोएडा पुलिस की सराहना की। साथ ही इस साजिश में शामिल अन्य लोगों को पकड़ने की मांग भी उठाई।

Share it
Share it
Share it
Top