जत्थेदार अवतार सिंह को जूते-बर्तन सफाई की सजा....समिति का कोई भी अधिकारी और सदस्य उनका सहयोग नहीं करेगा

जत्थेदार अवतार सिंह को जूते-बर्तन सफाई की सजा....समिति का कोई भी अधिकारी और सदस्य उनका सहयोग नहीं करेगा

अमृतसर। श्री अकाल तख्त साहिब अमृतसर के कार्यकारी जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सोमवार को तख्त श्री पटना साहिब (बिहार) के जत्थेदार अवतार सिंह को जूते तथा बर्तन साफ करने की सजा सुनाई। जत्थेदार अवतार सिंह को व्यक्ति विशेष गुरु साहिब के लिए उच्चारित होने वाले विशेषणों का प्रयोग करने के आरोप में श्री अकाल तख्त साहिब में पेश होने के लिए कहा गया था जिसके तहत सोमवार को अवतार सिंह श्री अकाल तख्त साहिब पर पेश हुए तथा क्षमा याचना की।

श्री अकाल तख्त के कार्यकारी जत्थेदार हरप्रीत सिंह ने सोमवार को जत्थेदार अवतार सिंह को दोषी करार देते हुए उन्हें सात दिन तक तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहब में रोजाना एक घंटा संगत के जोड़े (जूते) साफ करने, बर्तन धोने और कीर्तन श्रवण करने की सजा सुनाई। इसके अतिरिक्त उन्हेें पाँच दिनों तक सच्चखंड श्री हरिमन्दर साहब अमृतसर और श्री अकाल तख्त साहब जी में भी एक-एक घंटा संगतों के जोड़े साफ करने, बर्तन धोने और बैठकर कीर्तन श्रवण करना होगा।

सेवा (सजा) के दौरान अवतार सिंह को दोनों ही गुरुद्वारों में श्री गुरु ग्रंथ साहब के प्रकाश समय हाजारी करके हुक्मनामा श्रवण करना होगा। सेवा पूर्ण होने पर वह एक-एक श्री अखंड पाठ साहब आरंभ करवाएगा और वाणी श्रवण करेंगे और दोनों ही पवित्र स्थानों पर 5100 रुपये की कड़ाही परसादी की देग करवा कर क्षमा याचना के लिए अरदास करवाएगा।

जत्थेदार अवतार सिंह जब तक धार्मिक सजा पूरी करके क्षमा याचना की अरदास नहीं करवा लेते तब तक उन्हें किसी भी धार्मिक समारोह में बोलने की मनाही रहेगी। इस दौरान समिति का कोई भी अधिकारी और सदस्य उनका सहयोग नहीं करेगा।

Share it
Top