गठबंधन के बाद अखिलेश ने कसा तंज, बीजेपी नेता टेंशन में बसपा-सपा में आने को बेचैन

गठबंधन के बाद अखिलेश ने कसा तंज, बीजेपी नेता टेंशन में बसपा-सपा में आने को बेचैन

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कल शनिवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया। नई साझेदारी में 38-38 की भागीदारी है और यह गठबंधन काफी चर्चा में है। इस गठबंधन को लेकर अलग-अलग कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि यह लोकसभा चुनाव में एक नई राजनीतिक क्रांति लेकर आएगा।

वहीं आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा बसपा-सपा में गठबंधन से न केवल भाजपा का शीर्ष नेतृत्व व पूरा संगठन बल्कि कार्यकर्ता भी हिम्मत हार बैठे हैं। अब भाजपा बूथ कार्यकर्ता कह रहे हैं कि 'मेरा बूथ, हुआ चकनाचूर'। ऐसे निराश-हताश भाजपा नेता-कार्यकर्ता अस्तित्व को बचाने के लिए अब बसपा-सपा में शामिल होने के लिए बेचैन हैं।

बता दें कि अखिलेश और मायावती ने कल ऐलान किया कि बसपा और सपा 38-38 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे। दो सीटें बाकी दलों के लिए छोड़ने के साथ ही रायबरेली और अमेठी में गठबंधन का कोई प्रत्याशी नहीं उतारा जाएगा। इस दाैरान मायावती ने कहा कि यह कांफ्रेंस गुरू चेले मोदी-शाह की नींद उड़ाने वाली है। अखिलेश ने कहा मायावती का सम्मान मेरा सम्मान है उनका अपमान मेरा अपमान है।

Share it
Top