'बुआ-बबुआ' के गठबंधन में मुलायम कहीं नहीं..सपा के संस्थापक तो हमेशा मुलायम सिंह जी ही रहेंगे- अमर सिंह

बुआ-बबुआ के गठबंधन में मुलायम कहीं नहीं..सपा के संस्थापक तो हमेशा मुलायम सिंह जी ही रहेंगे- अमर सिंह


लखनऊ । आगामी आम चुनाव में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का मुकाबला करने के लिए बहुजन समाज पार्टी(बीएसपी) और समाजवादी पार्टी(सपा) के बीच शनिवार को हुये गठबंधन पर तंज कसते हुए राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने कहा है यह " केवल अखिलेश और मायावती ( बुआ और बबुआ ) के बीच है।"

बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में आम चुनाव के लिए गठबंधन का ऐलान करते हुए कहा है कि दोनों दल 38..38 सीटों पर चुनाव लडेंगे । दो सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ी गई है जबकि अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस उम्मीदवारों के खिलाफ गठबंधन उम्मीदवार खड़ा नहीं करेगा। वर्तमान में अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और रायबरेली से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सांसद है।

सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के किसी समय सबसे करीबी रहे अमर सिंह ने कहा कि गठबंधन बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश के बीच में हैं और इसमें वह (मुलायम सिंह यादव )कहीं नहीं है।

श्री अमर सिंह ने ट्वीट कर कहा " सपा के संस्थापक तो हमेशा मुलायम सिंह जी ही रहेंगे।" गठबंधन के मामले में मुलायम सिंह को पूरी तरह अलग रखा गया है। गठबंधन के बैनरों में मायावती, मुलायम सिंह और अखिलेश एक साथ नहीं हैं । यह गठबंधन" केवल अखिलेश और मायावती(बुआ और बबुआ) के बीच है।"

पिछले आम चुनाव में भाजपा की अगुवाई वाले गठबंधन ने 80 में से 73 सीटें जीती थीं। सपा को पांच और कांग्रेस को दो पर विजय मिली थी । बसपा का पूरी तरह सूपड़ा साफ हो गया था । इसके बाद योगी आदित्य नाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री और केशव प्रसाद मौर्य के उप मुख्यमंत्री बनने से गोरखपुर और इलाहाबाद सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को हार मिली थी । कैराना में भी भाजपा सांसद की मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार तबुस्म हसन विजयी हुई थीं। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]

Share it
Top