इस कारण रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची पेट्रोल-डीजल की कीमतें..

इस कारण रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची पेट्रोल-डीजल की कीमतें..


रोज की तरह पेट्रोल-डीजल की कीमतों में सोमवार को भी इजाफा दर्ज किया गया। पेट्रोल के दाम में प्रति लीटर 23 पैसे की बढ़ोतरी हुई है जबकि डीजल के दाम 22 पैसे प्रति लीटर बढ़े हैं। इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 80.73 रुपए प्रति लीटर हो गई है। जो कि रविवार को 80.50 रुपए प्रति लीटर थी। वहीं, मुंबई में सोमवार को पेट्रोल की नई कीमत 88।12 रुपए प्रति लीटर है जो रविवार को 87.89 रुपए प्रति लीटर थी।

मोदी सरकार ने डीजल पर 443 फीसदी एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई। एक्साइज ड्यूटी और वैट में भी कुछ हद तक बढ़ोतरी हुई। टैक्स में इतनी ज्यादा बढ़ोतरी करने की वजह से आज पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान पर पहुंच गई हैं।

फिलहाल कीमतों में गिरावट की उम्मीद नजर नहीं आ रही है क्योंकि रुपया कमजोर है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। ऐसे में विदेशों से कच्चा तेल खरीदना महंगा हो गया है। यही कारण है की पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है। देखा जाए तो ऐसे मामले में सरकार टैक्स घटाकर कीमतें कम कर सकती है।

केंद्र सरकार ने नवंबर, 2014 से जुलाई 2017 के बीच पेट्रोल पर 2।33 फीसदी एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई है। वहीं, डीजल पर यह ड्यूटी पेट्रोल के मुकाबले दोगुनी रफ्तार से बढ़ी है। इस समयावधि में मोदी सरकार ने डीजल पर 4.43 फीसदी एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई। एक्साइज ड्यूटी और वैट में भी कुछ हद तक बढ़ोतरी हुई।

डाटा के मुताबिक नवंबर, 2014 से जुलाई, 2017 के बीच पेट्रोल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी 9.20 प्रति लीटर से बढ़ाकर 21.48 रुपये प्रति लीटर हो गई। वहीं, डीजल की बात करें, तो इसे 3.46 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 15.33 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया।

Share it
Share it
Share it
Top