रोहाना टोल प्लाजा के पास के चार गांव टोल-फ्री...सांसद डा. संजीव बालियान व डीएम राजीव शर्मा ने बैठक में लिया निर्णय

रोहाना टोल प्लाजा के पास के चार गांव टोल-फ्री...सांसद डा. संजीव बालियान व डीएम राजीव शर्मा ने बैठक में लिया निर्णय

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर से सहरनपुर मार्ग पर रोहाना के निकट बनाये गये टोल प्लाजा को लेकर किसानों व क्षेत्रवासियों की नाराजगी दिन प्रतिदिन बढती जा रही है। लगातार हंगामे व प्रदर्शन के बीच आज मुजफ्फरनगर के सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान ने इस समस्या के समाधान के लिये जिलाधिकारी, किसान नेताओं व टोल प्लाजा अधिकारियों के साथ बैठक की और टोल प्लाजा से सम्बन्धित समस्याओं का निस्तारण कराया गया।

ज्ञातव्य है कि टोल प्लाजा प्रकरण को लेकर क्षेत्र के कुछ जिम्मेदार लोगों ने महापंचायत बुलाने का आह्वान किया था। भाजपा नेता विपुल त्यागी बहेडी द्वारा बुलाई गई महापंचायत में क्षेत्र से हजारों लोगों की भीड इकट्ठा होने की संभावना को देखते हुए सांसद संजीव बालियान व जिलाधिकारी राजीव शर्मा ने आज एक बैठक बुलाई। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में सांसद डा. संजीव बालियान ने बताया कि मुजफ्फरनगर-सहारनपुर हाईवे पर हाल ही में रोहाना के निकट स्थापित किये गये टोल प्लाजा को लेकर रोहाना क्षेत्र व देवबंद क्षेत्र के कई गांवों के लोगों के सामने टोल सम्बन्धी समस्याएं आ रही है। क्षेत्र के किसान कई बार आंदोलन का रूप अख्तियार कर चुके हैं, इसी के चलते डा. संजीव बालियान ने जिलाधिकारी राजीव शर्मा, पुरकाजी विधायक प्रमोद ऊटवाल, एडीएम सियाराम मौर्य, टोल प्लाजा के अधिकारी एन.पी. सिंह, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष देवव्रत त्यागी, युवा भाजपा नेता विपुल त्यागी बहेडी, जिला पंचायत के पूर्व सदस्य पंकज बरला, अंचित मित्तल व रोहन त्यागी के साथ इस मुद्दे पर चर्चा की, सभी ने अपना-अपना पक्ष रखा। घंटों तक सभी अपनी बात रखते रहे। इस दौरान क्षेत्र के कुछ किसानों ने भी इस बात पर नाराजगी जताई कि हाईवे पूरी तरह निर्माण भी नहीं हो पाया और टोल वसूली शुरू कर दी गई। टोल प्लाजा क्षेत्र के छह किलोमीटर के दायरे में आने वाले किसानों से भी टोल वसूला जा रहा है। इस दौरान महापंचायत बुलाने का आह्वान करने वाले भाजपा नेता विपुल त्यागी ने भी अपना पक्ष रखा। टोल सम्बन्धी समस्याओं को लेकर किसान नेताओं व टोल अधिकारियों के बीच इस बात पर सहमति बनी कि अग्रिम आदेश तक छह किलोमीटर के दायरे में आने वाले चार गांवों को टोल फ्री रखा जायेगा, जबकि दस से पन्द्रह किलोमीटर के दायरे में आने वाले किसानों से मात्र 15 रूपये लिये जायेंगे। इस दौरान पिछले दिनों टोल प्लाजा पर हुए हंगामे के दौरान कुछ किसानों पर दर्ज मुकदमे भी वापस लिये जाने का निर्णय लिया गया।

Share it
Share it
Share it
Top