अखिलेश ने कसा तंज.. कहा, साधु-संतों, 'राम-सीता और रावण' को भी पेंशन दे योगी सरकार

अखिलेश ने कसा तंज.. कहा, साधु-संतों,


लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को भाजपा से नए प्रधानमंत्री का चेहरा उतारने की बात कही है। उन्होंने कहा कि देश नए प्रधानमंत्री के इन्तजार में है। देश के प्रधानमंत्री के लिए भाजपा के पास कोई नया चेहरा हो तो बताएं। हमारे पास कई च्वॉइस (विकल्प) हैं।

अखिलेश यादव सोमवार को लखनऊ में पार्टी की छात्र इकाई के पदाधिकारियों से भेंट करने के बाद मीडिया को संबोधित कर रहे थे। यहां विभिन्न डिग्री कॉलेज में समाजवादी छात्रसभा के विजेता पदाधिकारियों से मिले और उनको शुभकामना दी।

भारत में बेरोजगारी की समस्या चरम पर

अखिलेश यादव ने कहा कि कहा जा रहा है कि दुनिया में भारत का डंका बज रहा है। इतना बड़ा झूठ बोलने में भी भाजपा को शर्म नहीं आ रही है। दुनिया में सबसे ज्यादा बेरोजगार भारत में ही रहते हैं। इसका भी डंका बज रहा है। स्वास्थ्य सूचकांक पर जाएं और बीमारियों पर चर्चा करें तो कई अध्ययन बताते हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा बीमारी भारत में फैल रही हैं। इसका भी डंका बज रहा है। कई रिपोर्ट बता रही हैं कि सबसे ज्यादा कैंसर पीड़ित भारत में ही हैं। इसके बाद आने वाले समय में सबसे ज्यादा कैंसर का खतरा भारतीयों को ही है।

संस्कृति की दुहाई देने वालों की भाषा में गिरावट

भाजपा विधायक साधना द्वारा बसपा सुप्रीमो मायावती पर की गई टिप्पणी पर अखिलेश ने कहा कि इन लोगों को अपनी हार तय दिख रही है। इसलिए उनकी भाषा में गिरावट देखी गई है। अभी जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएंगे भाजपा के लोगों की भाषा में और गिरावट देखी जाएगी। भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि जो भारतीय संस्कृति की दुहाई देते हैं, सोचिए उनकी भाषा क्या है। जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, वह राजनीति में कोई इस्तेमाल करता है क्या।

काशी देखें, कुंभ देखें और लौटते समय एक्सप्रेस-वे पर भी जाएं

वाराणसी में पन्द्रहवां भारतीय प्रवासी सम्मेलन पर उन्होंने कहा कि एनआरआई का स्वागत करता हूं। मैं चाहता हूं कि काशी देखें, कुंभ देखें और लौटते समय एक्सप्रेस-वे पर भी जाएं। ताकि पता करें काम कौन कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसके बाद सरकारी खजाने से कुछ बचे तो रावण को भी पेंशन मिले। अखिलेश यादव ने कहा कि कुंभ में दान होता है। भारत सरकार यूपी को संगम किनारे का किला दान कर दे।

साधु-संतों को 20 हजार पेंशन दे योगी सरकार

मुख्यमंत्री अलिखेश ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि साधु-संतों को हर महीने 20 हजार रुपये पेंशन मिलनी चाहिए। रामलीला करने वालों को भी पेंशन मिले। भगवान राम को भी पेंशन मिले और माता सीता को भी पेंशन मिलनी चाहिए। इसके बाद अगर कुछ बच जाए तो रावण को भी पेंशन मिले। उन्होंने कहा कि हमने यश भारती सम्मान दिया था और समाजवादी पेंशन दे रहे थे, सरकार ने ये सब बंद कर दिया। अब इन्हें फिर से शुरू किया जाना चाहिए। मुलायम सिंह यादव के चुनाव लड़ने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि जहां से चाहेंगे, वहां से लड़ेंगे।

योगी सरकार वृद्धावस्था पेंशन योजना में 60 वर्ष के ऊपर की उम्र वाले 10 लाख साधु-संतों को भी वृद्धावस्था पेंशन योजना में शामिल करने जा रही है। इसी को लेकर अखिलेश यादव ने योगी सरकार के इस फैसले पर मांग की है कि साधु-संतों को 20 हजार रुपये की पेंशन दी जानी चाहिए।

Share it
Top