दागी नेताओं की वजह से ही बढ़ता भ्रष्टाचार..

दागी नेताओं की वजह से ही बढ़ता भ्रष्टाचार..

केन्द्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में पेश हलफनामे में दागी नेताओं की संख्या को देखकर तो लगता है कि देश में अच्छे दिन तो नहीं हैं जहां इतनी संख्या में दागी नेता है। यदि उत्तर प्रदेश की बात की जाये तो यहां 248 दागी सांसदों-विधायकों के खिलाफ 539 मुकदमे लंबित है। इन आंकड़ों में सभी दलों के नेता शामिल है। कोई भी राजनैतिक दल दूध का धुला नही है।
यहां यह विचारणीय तथ्य यह है कि देश का नेतृत्व करने वाले ही दागी हैं तो देश को अच्छी छवि कैसे दे सकते है? देश के सांसदों विधायकों का यह आंकड़ा तो बताने में पर्याप्त है कि देश में भ्रष्टाचार, जांतिपात, धर्मवाद को ही राजनीति का साधन बनाकर देश के दागी नेता जनता को ठगने के लिये सफेदवस्त्र धारण करके केवल फर्जी भाषण देते है। किसी एक भी मामले में दागी होने पर नेता का पर्चा खारिज करके उसे अयोग्य माना जाये तो देश में गुंडे, बदमाश राजनीति में नही आयेंगे तो भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी क्योंकि जब दागी नेता मंत्री बन जाता है तो वह और भी दागदार कार्य करने का शौकीन हो जाता है।
यदि वास्तव में देश को सही विकास के पथ पर ले जाना है तो इन दागी नेताओं को राजनीति से दूर करना जरूरी है। इन गंदे नेताओं की वजह से ही पढ़े लिखे अधिकारी भी नैतिकता भूलकर भ्रष्टाचार में लिप्त हो जाते है और जनता के छोटे छोटे कार्य के लिये भी लेटलतीफी करके काम को लम्बा खिचते है। सरकारी विभागों में भी इन दागी नेताओं का रूतबा रहता है क्योंकि ये अपनी टीम मजबूत रखने के लिये भ्रष्ट लोगों को संरक्षण देते हैं और सामान्य आदमी कितना भी शिकायत करले लेकिन सरकारी विभाग के लोग सुनने को तैयार नहीं रहते है। चुनाव आयोग द्वारा केवल दागी नेताओं का राजनीति में प्रवेश प्रतिबन्धित करने से देश की दशा में काफी सुधार हो सकता है। देश में नियम कानून तो कई बनते है लेकिन माननीयों के उन कानूनों में भी कानून होता है जो सर्वथा अनुचित है।
देश की सभी पार्टियां अपने नेताओं को एकदम स्वच्छ छवि वाला कहती है लेकिन वास्तविकता तो देश जान रहा है। देश की राजनीति को स्वच्छ बनाने के लिये राजनीतिक दलों को भी पहल करना पड़ेगी नही तो यह आंकडा केवल बढ़ेगा और देश दागी नेताओं के कारनामों से प्रभावित होकर दुर्गति को प्राप्त होगा। हमें किसी भी दागी नेता का समर्थन नही करना चाहये।
-संतोष कुमार तिवारी

Share it
Top