Read latest updates about "लाइफ स्टाइल" - Page 3

  • जानिये छिलकों के उपयोग

    बड़े-बूढ़े कहते हैं कि दुनियां में जो भी चीजें प्रकृति ने दी हैं वे सभी किसी-न-किसी रूप में उपयोगी भी हैं। कुछ लोग इस बात को काटने के लिए घास-फूस या अन्य किसी चीज़ का उदाहरण देकर कहेंगे कि बताइये इनका क्या उपयोग हो सकता है। वास्तव में उपयोग तो सभी चीजों का हो सकता है लेकिन अनेकानेक चीजों के...

  • 17 सितंबर- आज ही भारतीय वायु सेना की स्पेशल फ़ोर्स यूनिट गरुड़ कमांडो कांगो के शांति मिशन पर रवाना हुआ था

    नयी दिल्ली । भारतीय एवं विश्व इतिहास में 17 सितंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं- 1630- अमेरिका के बॉस्टन शहर की स्थापना। 1948- हैदराबाद रियासत का भारत में विलय। 1949- दक्षिण भारतीय राजनीतिक दल द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (द्रमुक) की स्थापना। 1974- बंगलादेश, ग्रेनेडा और गिनी बिसाऊ संयुक्त...

  • अगर ऑफिस में हो महिला बॉस

    आधुनिक दौर में महिलाओं ने हर क्षेत्र में खुद को साबित किया है। अगर आपके ऑफिस में बॉस महिला है तो वह आपको हर काम में प्रोत्साहित करती हुई नजर आएगी। अनुभव बताते हैं कि महिलाएं अपने काम को लेकर बेहद संजीदा होती हैं। इसीलिए वे ऑफिस वर्क और टारगेट्स को पूरा करने में भी बहुत मेहनत करती हैं। काम के दौरान...

  • घरेलू अव्यवस्थाएं कहीं दुघर्टना का कारण न बन जायें

    प्राय: आमतौर पर गृहणियां खराब पड़े इलेक्ट्रिकल सामान से लेकर, टपकते नल तक स्वयं मैकेनिक बुलाकर ठीक करवाने की बजाय उसे घर के पुरूषों से कराये जाने योग्य काम समझती हैं। जब तक घर का मुखिया खराब पड़े सामान को ठीक नहीं करवाता, तब तक गृहणियां उसे नजरअंदाज करके, किसी तरह अपना काम उनके बगैर चलाना श्रेयस्कर...

  • जब ऑफिस जाने का मूड न हो

    ऑफिस जाने का तनाव महिलाओं के लिये कम नहीं होता। उन्हें घर बाहर दोनों के बीच सामंजस्य बनाकर चलना होता है ऐसे में कई बार उन्हें शारीरिक और मानसिक थकान से जूझना पड़ता है। पीरियड्स के टाइम भी कई बार महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में कई बार उनका मन ऑफिस जाने का नहीं होता। वे घर पर...

  • तन मन का रस भरा संगम है दांपत्य

    पति पत्नी के प्यार भरे रिश्ते में दोनों की पवित्र सांसों से निकली हुई हजारों फूलों के समान बिखरती सुगंध दांपत्य जीवन को ही नहीं बल्कि सारे वातावरण को सुगंधित कर देती है। दिल की गहराइयों से जुड़ा हुआ पति पत्नी का अथाह प्यार भर संबंध जिसमें प्यार, रोमांस, शरारत, नफरत, आकर्षण, छेड़छाड़ और रूठना मनाना,...

  • शक सिर्फ शक नहीं, कमजोरी भी है

    पूजा को अपने पति पर चौबीसों घंटे शक रहता है। उसके आते-जाते वह उसे शक की निगाहों से देखती है। बात-बात पर वह अपना शक ज़ाहिर करती है। आखिर इसके पीछे कारण क्या है उसके पति की कई सहकर्मी हैं जो उसके साथ काम करती हैं। पूजा अपने पति को तब भी गलत समझती है जबकि उसका पति अपनी सहकर्मियों की कभी तारीफें नहीं...

  • जीवन में संधिकाल की समस्याओं से जूझती नारी

    इफ स्प्रिंग कम्स, कैन ऑटम बी फार बिहांइड'। कवि शैली की इस पंक्ति में जीवन का यथार्थ बयां है। नारी के जीवन में भी बसंत आता है पतझड़ का संदेश लेकर। देखते ही देखते बसंत ऋतु बीत जाती है। फिर आता है पतझड़, अपने में ढेर सी उदासी और थकावट लिये। प्रौढ़ावस्था में जहां जीवन में एक खालीपन सामने लगता था वहीं...

  • 16 सितंबर-भारतीय एवं विश्व इतिहास में 16 सितंबर की प्रमुख घटनाएं

    नयी दिल्ली । भारतीय एवं विश्व इतिहास में 16 सितंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं- 1810 - निगवेल हिदाल्गो ने स्पेन से मैक्सिको की आज़ादी के लिए संघर्ष शुरु किया। 1821 - मैक्सिको की स्वतंत्रता को मान्यता मिली। 1908 - 'जनरल मोटर्स निगम' की स्थापना हुई। 1947 - टोक्यो के सईतामा में चक्रवाती तूफान...

  • धूम्रपान का फेफड़ों पर दूरगामी प्रभाव

    शौकिया, आदतन, देखादेखी या किसी भी कारण से धूम्रपान करना सदैव नुकसानदायक होता है। यह हर दृष्टि से सेहत को हानि पहुंचाता है। यह मुंह के कैंसर के खतरे को दुगुना कर देता है। यह दिल के आकार को बदल कर बीपी बढ़ा देता है। यह रक्त में थक्का बनाता है एवं हृदयाघात का कारण बनता है। इससे फेफड़े एवं श्वसन तंत्र...

  • मोटापा या दुबलापन दोनों ठीक नहीं

    कुछ लोग अत्यधिक मोटे अथवा अत्यंत दुबले होते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से दोनों ठीक नहीं हैं। दोनों ही स्थितियां अनेक रोगों का कारण बन सकती हैं। व्यक्ति की ऊंचाई के अनुपात में उसका शरीर होना चाहिए। वजन उसके अनुसार हो। जितने इंच की ऊंचाई है, उसी के अनुसार उतना किग्रा वजन हो। भोजन एवं श्रम को सही व...

  • रीढ़ की हड्डी की टी. बी. लाइलाज नहीं

    भारत जैसे विकासशील देश में जहां अभी भी कई प्रतिशत आबादी गरीबी की रेखा से नीचे है, टी. बी. (क्षय रोग) जैसी बीमारी का काफी प्रकोप है। आमतौर पर यह रोग फेफड़ों को प्रभावित करता है लेकिन हड्डी तथा जोड़ों की टी. बी. का प्रकोप भी काफी देखा गया है। टी. बी. से घुटना, टखना, कूल्हा, रीढ़ की हड्डी इत्यादि...

Share it
Share it
Share it
Top