कभी उम्मीद न छोड़ें

कभी उम्मीद न छोड़ें

जीवन की सबसे बड़ी पूंजी है उम्मीद। अगर ये उम्मीद कायम रही तो दुनियां की सभी परेशानियों का हल है, आपके पास। यह कोई किताबी तर्क नहीं है,हमारे आपके जीवन का सच है। कई बार ऐसा होता है कि हम परिस्थितियों से घबरा जाते हैं। हमें यह लगने लगता है कि अब हम से नहीं होगा, अब आगे मुझसे कुछ नहीं होगा, आदि आदि। ऐसी परिस्थितियां कई बार हमारे सामने आती हैं। हम में से हर किसी के पास इस तरह की परेशानियों का अपना अनुभव है। अगर गहराई से झॉंकें तब हमें पता चलेगा कि जीवन में परेशानियों के बादल पहले भी थे, आज भी हैं और संभव है इसी तरह की बातों से हमारा सामना आगे भी हो। यह कोई नयी बात तो नहीं है।
जरूरत इस बात की है कि हम सकारात्मक संकल्पों को मजबूती से पकड़े रहे। हमें अपने मन और बुद्धि को यह साफ साफ शब्दों में बता देना चाहिए कि प्रत्येक विपरीत परिस्थितियों से मैं पहले भी बाहर आ चुका हूं और सामने जो हालात है,उससे भी पार उतर जाऊंगा। मैं तुम्हारे नकारात्मक तर्कों से सहमत नहीं हूं। अगर हम ऐसा नहीं करते हैं और बुद्धि की नकारात्मक बातों में सहमति जता देते हैं, तो मन नकारात्मक चिंतन में डूब जायेगा और परेशानियां कई गुणा और बढ़ जाएगी। यह सच्चाई है कि विपरीत परिस्थितियों का प्रभाव जीवन पर पड़ता ही है लेकिन मन बुद्धि को इस वक्त सही खुराक नहीं मिले तो परिस्थितियां लगातार बिगड़ती जाती हैं। विपरीत परिस्थितियों में सबसे बड़ा दुश्मन हम अपने लिए खुद ही बन जाते हैं। आज हम जिस माहौल में जी रहे हैं वहां बाहर से सकारात्मक माहौल की बहुत उम्मीद हमें नहीं करनी चाहिए। हो सकता है मिले और शायद न भी मिले। इसलिए खुद को सकारात्मक संकल्पों से बांधें रखें। नकारात्मक संकल्पों से कभी कोई विजेता नहीं बना है। आज के तनाव पूर्ण माहौल में हमें खुद से सबसे ज्यादा लडऩा पड़ता है। अपने भीतर की अच्छाइयों का सामना बाहर के प्रदूषित माहौल से होता है तो भीतर गदर चलता रहता है। जब जीवन की परिस्थितियां प्रतिकूल हो तो भीतर के हालात क्यों होते हैं, इसे तो कोई भुक्तभोगी ही समझ सकता है। आप समझ सकते हैं। बस एक संकल्प अपने भीतर दुहराते रहे। इन परिस्थितियों से मैं बाहर आ जाऊगां,पहले जब भी हालात प्रतिकूल थे उसका अनुभव यही कहता है कि ये बादल छंट ही जायेंगे। ऐसे वक्त जरूरी है कि बुद्धि संतुलित बनी रहे, इसलिए मन को सकारात्मक बातों की ओर लगायें। साहित्य,अध्यात्म और जीवन को प्रेरणा देने वाली पुस्तकें पढ़े। एक नई और बेहद खूबसूरत सुबह आपकी प्रतीक्षा में खड़ी है। एक बेहतर कल आपके जीवन में आने वाला है।
- सूरज रजक

Share it
Top