हर रोज खाएं इनमें से कुछ जरूर

हर रोज खाएं इनमें से कुछ जरूर

जब भी कुछ खाना-पीना चुनने की बात आती है तो डायटिशियन संतुलित लेकिन विविधता भरा भोजन लेने को कहते हैं ताकि आपको वो सभी जरूरी पोषक तत्व मिल जाएं जो आपके लिए जरूरी हैं। इनमें हल्दी की स्मूदी से ले कर चाकलेट और पीनट बटर कॉम्बो शामिल हैं।
सिट्रस फ्रूट : सिट्रस फ्रूट्स विटामिन सी और पोटेशियम से भरपूर होते हैं और इनका शानदार स्वाद बहुत सारा पोषण भी देता है। एक दिन आप एक गिलास संतरे का रस पिएं और दूसरे दिन आप एक कप ग्रेपफ्रूट सलाद में खा सकती हैं। इस तरह से सिट्रस फ्रूट्स को कई तरह से काम में लिया जा सकता है।
स्वादिष्ट ओटमील: ओटमील को कई तरह से खाया जा सकता है। आप इसमें आल्मंड बटर, चिया सीड्स, गर्म दूध डालें। इस तरह से इसमें प्रोटीन, फाइबर और कैल्शियम की बढ़ोत्तरी कर सकती हैं। यह ब्रेकफास्ट आपकी भूख को शांत करता है और स्वाद में भी अच्छा होता है। आप चाहें तो जब समय कम हो तो इसे लंच और डिनर में भी बना सकती हैं।
गुणकारी हल्दी: शोध साबित कर चुके हैं कि यह चमत्कारिक मसाला संक्रमण से दवाओं से भी बेहतर तरीके से लड़ता है। अगर आप खिलाड़ी हैं तो फिर आपको चोट लगने की आशंका भी ज्यादा रहती है। ऐसे में एंटी-इंलेमेटरी आपके लिए जरूरी है, जो हल्दी है। इसके अलावा इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स भी काफी पाए जाते हैं जो कैंसर से बचाते हैं, लिवर की कार्यप्रणाली को सुचारू रखते हैं कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं, इसलिए दो चम्मच हल्दी अपनी स्मूदी में डालें।
डार्क चाकलेट: एक डार्क चाकलेट में 7० फीसदी कोको होता है और अब तो ऐसी भी डार्क चाकलेट आ रही हैं, जिनमें 85 फीसदी तक कोको होता है। आप इसे एक छोटा चम्मच पीनट बटर के साथ खा सकती हैं। शोध साबित कर चुके हैं कि हर रोज एक ओंस बहुत अच्छी क्वालिटी की डार्क चाकलेट खाने से ब्लड प्रेशर कम होता है, दिल की बीमारियों का खतरा कम होता है।
टमाटर: टमाटर को सब्जी में, सैंडविच में, सलाद में, पास्ता में या अन्य किसी भी चीज में इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर कोई चीज कम पड़ रही हो तो उसे बढ़ाने का सबसे अच्छा जरिया टमाटर है। इसमें कैलोरी भी ज्यादा नहीं होती। इसमें विटामिन सी होता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
लहसुन की एक कली: लहसुन एंटीबैक्टीरियल व एंटीफंगल होता है। इसमें सल्फर कंपाउंड्स होते हैं जो एंटीऑक्सीडेंट्स की तरह काम करते हैं और बीमारियों से लडऩे में मदद करते हैं। इससे दिल की बीमारियां कम होने में मदद मिलती हैं। हर रोज लहसुन की एक कली खाने से आप कई तरह के कैंसर से बचे रहते हैं। लहसुन को खाने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप इसे चॉप या क्रश करें। दस मिनट ऐसे ही रहने दें, फिर खाएं। यह ज्यादा फायदा करेगी।
गर्म पानी और नींबू: कैफीन की बजाय अपने दिन की शुरूआत नींबू और गर्म पानी से करना अच्छा रहता है। नींबू पानी आपके पाचन तंत्र के लिए अच्छा रहता है और आपको पूरे दिन ऊर्जा से भरा रखता है। नींबू एंटी इंफ्लेमेटरी होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। आप चाहें तो शहद के पानी में नींबू मिलाएं।
हुमुस डिप: हुमुस का उपयोग आप रोजाना कर सकती हैं। अगर आप कच्ची सब्जियों की शौकीन हैं तो फिर हुमुस आपके लिए है। हुमुस प्रोटीन और फाइबर से भरपूर ऐसा डिप है जिसमें डुबो कर किसी भी बोरिंग सब्जी को शानदार लेवर दे सकती है। यह छोले से बनता है, जो प्रोटीन का भंडार होते हैं। इसकी रेसिपी भी बहुत आसान होती है।
नट्स और सीड्स: अगर आप प्रोटीन खाना चाहती हैं तो नट्स और सीड्स इस्तेमाल करें। ये न केवल प्रोटीन देते हैं बल्कि इनमें हैल्दी फैट्स और फाइबर भी होते हैं। आप इन्हें ओटमील में मिला सकती हैं। सैंडविच स्प्रेड में प्यूरी बना कर खा सकती हैं। सलाद में डाल सकती हैं, पास्ता टॉपिंग में भी इनका इस्तेमाल कर सकती हैं। यहां तक कि डार्क चाकलेट्स की बार्स पर भी इन्हें बुरक कर खाया जा सकता है।
फायदेमंद ब्लूबेरीज: एक कप ब्लूबेरी में केवल 80 कैलोरी होती हैं। सभी फलों की तुलना में ब्लूबेरी में सबसे ज्यादा एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं। एक कप ब्लूबेरी खाने से हर रोज की जरूरत एक चौथाई विटामिन सी और 14 फीसदी फाइबर मिल जाता है। यह फल हमारे दिल को सुरक्षित रखता है और कैंसर से लड़ता है। आप ब्लूबेरी को फ्रीज करके भी रख सकती हैं।
- खुंजरि देवांगन

Share it
Share it
Share it
Top