गर्दन दर्द : पाएं राहत

गर्दन दर्द : पाएं राहत

क्या करें:-
- गर्दन को मजबूत बनाने के लिए गर्दन की सूक्ष्म क्रियाएं करें। सिर को धीरे धीरे दाईं ओर ले जाएं। फिर बांई ओर 4 से 5 बार करने के बाद धीरे धीरे गर्दन को गोल घुमाएं दाएं से बाएं, फिर बाएं से दाएं। 4 से 5 बार रूक रूक कर करें।
- ज्यादा दर्द होने पर तीन चार दिन के लिए कॉलर लगाएं। ऐसा करने से गर्दन की कमजोर मांसपेशियों को आराम मिलता है। इसकी आदत न बनाएं।
- गर्दन दर्द में भुजंगासन, ताड़ासन, मकरासन, गोमुख आसन, कटिचक्रासन करें।
- रीढ़ को पीछे की ओर ले जाने वाले व्यायाम करें।
- हल्के हाथों से किसी भी तेल से मालिश करें। ऐसा करने से मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं। ध्यान दें हड्डी पर किसी भी प्रकार का दबाव न पड़े।
- अपना पाश्चर सही रखें। उठते बैठते समय या सोकर उठते समय झटका न लगे।
- फिजियोथेरेपी करवाएं अगर दर्द तीन-चार दिन से ज्यादा समय तक बना रहे।
- हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम और प्रोटीन युक्त आहार लें।
- मौसमी फल व पांच बादाम का नियमित सेवन करें।
- 1 गिलास दूध में कच्ची हल्दी कद्दूकस कर उबालें और हल्दी वाला दूध पिएं। अगर कच्ची हल्दी उपलब्ध न हो तो एक तिहाई छोटा चम्मच हल्दी का गर्म दूध में मिलाकर पिएं।
क्या न करें:-
- ऊंचा मोटा तकिया न लगाएं।
- पेन किलर लेने की आदत न डालें।
- लगातार झुक कर काम न करें, न ही बैठें। अगर कुर्सी मेज पर बैठ की काम करना हो तो थोड़ी देर बाद उठें, शरीर स्टे्रच करें, गर्दन को दाएं बाएं, बाएं दाएं धीरे धीरे घुमाएं।
- कोई भी आसन आगे झुकने वाला न करें।
- फोन को कान और कंधे के बीच लगाकर लंबी बात न करें।
-मेघा

Share it
Share it
Share it
Top