सीखें, फूलदानों को भी सजाना

सीखें, फूलदानों को भी सजाना

इंसान के जीवन में फूलों को हमेशा से ही सौंदर्य का प्रतीक माना जाता रहा है और हर एक व्यक्ति की यह तमन्ना रहती है कि वह अपने संपूर्ण घर में अधिक से अधिक फूल लगाए और उसकी सुगंध एवं सुंदरता से पूरा वातावरण शोभनीय हो उठे किंतु बाजार में फूलों की कीमत अधिक होने तथा उत्पादन कम होने के कारणवश लोगों की अभिलाषा मन में ही दबी रह जाती है।

इसीलिए जब फूलदानों में लगाए जाने वाले फूल प्रतिदिन बदलना संभव नहीं हो सके और फूल बाजार में महंगे मिलने लगें, तब ऐसे समय में फूलों को फूलदानों में लंबे समय तक ताजा बनाए रखने के लिए निम्न बातों को ध्यान मेें रखते हुए अमल में लायें। निस्संदेह आप उन्हें अधिक दिनों तक ताजा रखने में कामयाब रहेंगे और उनकी खुशबू भी कई दिनों तक घर को सुगंधित करती रहेगी।

सही ढंग से लगाएं: अक्सर घरों में देखने को मिलता है कि विभिन्न प्रकार के सुंदर फूलदानों में फूलों को सजावट के लिए लगाते समय उचित ढंग से नहीं लगाया जाता जिससे आने वाले मेहमानों का मोह फूलों के प्रति लगभग खत्म सा हो जाता है इसलिए फूलों को फूलदान में सजाते समय पूरी सावधानी बरतें। साथ ही यह भी स्मरण रखें कि उनके ऊपर मिट्टी वगैरह न बैठने पायें नहीं तो वह अपनी सुंदरता खोने में जरा-भी वक्त नहीं लेंगे और सुंदर होने के बावजूद भद्दे दिखलाई देने लगेंगे।

अनावश्यक पत्तियों को हटा दें: ध्यान रखें कि फूलदानों को प्रतिदिन साफ करते समय फूलों से जुड़ी अनावश्यक पत्तियों को अलग करके हटा दें। इस तरह फूलों से होने वाले वाष्पोत्सर्जन को कम किया जा सकता है। परिणामस्वरूप, फूलों को ज्यादा समय तक तरोताजा रखा जा सकता है जिससे फूल पुराने होने के बाद भी नये दिखाई देंगे।

फूलदानों के पानी को बदलें: फूलदानों में फूल लगाने के उपरांत उनकी सफाई करना कतई नहीं भूलें। और तो और, फूलदानों में प्रयोग किए जाने वाले पानी को एक निर्धारित अवधि के पश्चात् बदलते रहें। इस प्रकार, फूल कई दिनों तक अपनी रंगत नहीं छोड़ेगा।

फूलों को सही स्थान पर सजायें:

यूं तो हम फूलों को हमेशा टी. वी, फ्रिज, कूलर इत्यादि जगहों पर रखते हैं परन्तु यह सरासर गलत होता है क्योंकि इनसे निकलने वाली गर्मी से फूलों की उम्र कम हो जाती है। इसलिए जहां तक संभव हो सके, फूलदान को मेज और स्टूल पर सजावट कर पर्याप्त सुरक्षित स्थान देें। ऐसा करने पर फूलों की उम्र बढ़ जाएगी और कई दिनों तक फूलदानों की रौनक बढ़ाते रहेंगे।

सूखी पुष्प कलिकाओं को तोड़ते रहें: वैसे तो अधिकांश फूलों में एक ही पुष्प कलिका होती है। फिर भी कुछ फूलों में एक से अधिक पुष्प कलिकाएं पाई जाती हैं जिनमें सबसे नीचे वाली कलिका सबसे पहले सूखना प्रारंभ करती है सो ऐसा होने पर रोजाना उन्हें हाथ से तोड़ते रहें। इससे गलेडिओलस जैसे फूलों को अधिक दिनों तक ताजा व नये की भांति रखा जा सकता है।

यदि आप रोजाना इसी प्रकार से फूलदानों को अपना बेशकीमती वक्त देते हैं तो ये भी आपके अनमोल जीवन में सरसता एवं प्राकृतिक आनन्द से मानसिक थकान और तनाव जैसी बीमारियों को जड़ से खत्म कर देंगे और प्राकृतिक सुंदरता से घरों, ऑफिसों तथा होटलों में चार चांद लगा देंगे जिससे संपूर्ण वातावरण उल्लास एवं सौहार्द से भर जायेगा।

- अनूप मिश्रा

Share it
Top