बालों की कलरिंग और केयरिंग

बालों की कलरिंग और केयरिंग

पहले बालों की सफेदी छुपाने के लिए लोग कलर करते थे परंतु फैशन के इस युग में बालों को कलर करना आम बात हो गई है। लिहाजा हर उम्र के पुरुष और महिलाएं अपने व्यक्तित्व में नया लुक देने के लिए विभिन्न प्रकार के रंगों से अपने बालों को कलर कर रहे हैं।
हेयर कलरिंग करते समय कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए। ऐसा न होने पर आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है और बालों के खराब होने का भी डर रहता है। अगर आप भी हेयर कलरिंग करना चाहती हैं तो - कलर हमेशा वही लें जो प्राकृतिक रंग से मेल खाता हुआ हो। यदि आपकी त्वचा गोरी है तो ऐश ब्लांड कलर इस्तेमाल करें। सांवली त्वचा व बाल भूरे हैं तो ब्रिगेंडी कलर तथा बाल काले हैं तो कॉपर कलर का प्रयोग करें।
- बालों को कलर करने के लिए तीन पद्धतियां होती हैं-पहली अस्थाई पद्धति जो एक दो दिन तक चलती है, दूसरी सेमी परमानेंट जो 4-5 सप्ताह तक चलती है तथा तीसरी परमानेंट जो काफी लंबे समय तक चलती है। अस्थाई पद्धति को अपनाएं ताकि पसंद आने पर उसे स्थाई रूप दिया जा सके।
- कलर हमेशा अच्छी कंपनी के ही खरीदें। उसकी एक्सपायरी डेट भी जरूर पढ़ लें अन्यथा एलर्जी होने का खतरा हो सकता है।
- कलर खरीदने के बाद उसमें दिए गए निर्देशों का पालन करते हुए ही कलर करें।
- बालों को कलर करने से पहले उसकी एलर्जी टेस्टिंग अवश्य कर लेनी चाहिए। यदि पहली बार कलर कर रही हैं तो थोड़ा सा कलर डेवलपर मिलाकर अपने कान के पीछे या गर्दन पर लगाएं।
यदि जलन या किसी भी प्रकार की एलर्जी महसूस हो तो फौरन ठंडे पानी से धो लें व कलर का प्रयोग न करें।
- यदि आपके बाल झड़ते हैं, उनमें डैंरडफ है या कोई घाव है तो पहले कॉस्मेटोलाजिस्ट से मशवरा करें व फिर कलरिंग करें।
- यदि एक कलर करने के पश्चात दूसरा कलर करना चाहती हैं तो एक महीने तक इंतजार करें। जल्दी-जल्दी कलर न बदलें। इससे बाल रूखे व बेजान हो जाएंगे।
- आपके बाल दोमुंहे हैं, ब्लीच किए हुए हैं या बालों में हिना किया हुआ हो तो उन बालों को बढ़ाकर निकल जाने दीजिए।
उन पर कलर न करें। यदि करना भी चाह रही हैं तो किसी अच्छे हेयरस्टाइलिस्ट से राय ले कर ही करें।
- कलर्ड बालों में हमेशा माइल्ड कंडीशनर युक्त शैम्पू का इस्तेमाल करें या शैम्पू के बाद अच्छी कंपनी का कंडीशनर इस्तेमाल करें। शैम्पू भी वही लगाएं जो खासतौर पर कलर्ड बालों के लिए बनाया गया हो। इससे बालों की कोमलता और चमक बरकरार रहती है।
- यदि आप कोई दवा खा रही हैं तो भी कलरिंग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें लें।
- शैम्पू करने के बाद कलर्ड बालों को सीधे धूप में न सुखाएं। ड्रायर आदि का प्रयोग भी न करें क्योंकि इससे बालों का रंग बदरंग हो जाएगा।
- बालों में यदि पर्मिंग हो तो कलरिंग न करें क्योंकि पर्मिंग से बालों का रासायनिक संतुलन बदल जाता है।
- सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणें कलर्ड बालों को नुकसान पहुंचाती हैं। अत: घर से बाहर निकलते समय सनशील्ड का इस्तेमाल करें।
- शैली माथुर

Share it
Top