सुंदर और चमकदार बाल स्त्रियों का गहना हैं

सुंदर और चमकदार बाल स्त्रियों का गहना हैं

बाल ही स्त्री की खूबसूरती का खास आकर्षण हैं। काले, घने और चमकदार बाल महिलाओं की सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं। महिला का चेहरा कितना ही सुंदर हो लेकिन यदि बाल चमक विहीन रूखे और पके हुए हों तो उसके व्यक्तित्व का इसमें कोई प्रभाव नहीं पड़ता।
नियमित रूप से बालों की देखभाल करने से वे सुंदर और रेशम की तरह मुलायम होंगे। बालों की सही देखभाल किस तरह करनी चाहिए, इस विषय में हम उपयुक्त जानकारी दे रहे हैं:-
बालों की सफाई:- रोजाना काम करने की वजह से बालों में धूल और मिट्टी के बारीक कण अटक जाते हैं। इसके कारण बाल चीकट हो जाते हैं।
बाल धोए नहीं जाएं तो बालों की जड़ों में धूल और मैल की परतें जम जाती हैं। बालों की जड़ों को हवा नहीं लगती और वे कमजोर हो जाते हैं, इसलिए बाल झडऩे लगते हैं। बालों में मैल न बैठे, इसलिए दिन में कम से कम तीन बार कंघी करें। इससे बालों में जमी हुई धूल निकल जाती है। खून का दौरा अच्छा होता है।
बालों की जड़ों से लेकर ऊपर तक ब्रश से बाल अच्छी तरह जमाएं। इससे दिमाग में रहने वाली तैलग्रंथियां पूरे बालों में पहुंच पाती हैं। इन तैलग्रंथियों का तेल बालों की जड़ों तक फैलता है, इसलिए यह क्रिया सोने से पहले रोज रात में पांच से दस मिनट तक करनी चाहिए।
मालिश:- जिस प्रकार शरीर को आहार की जरूरत होती है, वैसे ही बालों को भी होती है। जिस तरह हमने दो दिन भोजन नहीं किया तो हमें बेचैनी होती है, किसी भी काम में ध्यान नहीं लगता, वैसे ही बालों के साथ होता है। बालों को तेल नहीं लगाया तो वे बेजान लगते हैं इसलिए हफ्ते में एक बार बालों को तेल लगाना जरूरी है।
तेल लगाते समय सबसे पहले बालों को कंघी से थोड़े-थोड़े भाग में बांटना चाहिए, फिर अंगुलियों से बालों की जड़ों में तेल लगाना चाहिए। इस प्रकार तेल लगाने के कारण बालों की जड़ों में तेल पहुंच जाता है।
नियमित रूप से मालिश करने से दिमाग में खून का दौरा बढ़ता है। मस्तिष्क को खून सही मात्र में नहीं मिला तो बालों में रूसी होना, बाल झडऩा इस प्रकार की बीमारियां होने का डर होता है।
बालों में तेल लगाने के दो घंटे बाद बालों को शैम्पू करें। शैम्पू लगाने से पहले बालों को अच्छी तरह भिगोएं। उसके बाद पूरे सिर को शैम्पू लगाएं। शैम्पू लगाते समय दोनों हाथों की उंगलियों से बालों में अलग-अलग प्रकार से मालिश करें। इसके कारण बालों में जो अनावश्यक तेल है, वह निकल जायेगा और मस्तिष्क कार्यक्षम रहेगा। गीले बालों में कंघी न करें। गीले बालों में कंघी करने से जड़ें कमजोर हो जाती हैं और एक-एक बाल की बारीक-बारीक शाखाएं फूट जाती हैं।
आहार:- बालों की सेहत खास तौर से आहार पर निर्भर है इसलिए हमेशा पौष्टिक आहार ही लेना चाहिए। तनाव से हमेशा दूर रहना चाहिए।
आप जिस कंघे या ब्रश से बाल जमाते हैं, उसे हफ्ते में एक बार साफ करना आवश्यक है और पंद्रह दिन में एक बार जंतुनाशक रसायन से धोना चाहिए।
कंडीशनिंग:- बालों में हमेशा शैम्पू लगाने से बाल रूखे हो जाते हैं इसलिए शैम्पू करने के बाद बालों को कंडीशनिंग करना आवश्यक है। शैम्पू करने के बाद पूरे बालों में कंडीशनर लगाएं। पांच मिनट तक कंडीशनर बालों में लगाए रखने के बाद बालों को धोएं। इसके कारण बाल बेजान और चिकने नहीं होंगे। कंडीशनर लगाने से बालों में चमक आती है।
सौंदर्य प्रसाधन लगाते समय सावधानी बरतें:- सिर्फ उन्हीं सौंदर्य प्रसाधनों का उपयोग करें जिनसे मस्तिष्क की त्वचा और बालों को किसी प्रकार की हानि न पहुंचे। बाल सुखाने के लिए उपयोग किये जाने वाले यंत्र को टालना चाहिए। इन यंत्रों की गरम भाप के कारण बाल रूखे हो जाते हैं। बालों को आकार देने के लिए लोशन और फव्वारा नहीं मारना चाहिए क्योंकि इससे बाल खराब होते हैं, बालों की चमक चली जाती है, इसलिए ये सब सौंदर्य प्रसाधन न इस्तेमाल किए जाएं तो अच्छा है।
इस प्रकार हम बालों की देखभाल और सफाई कर सकते हैं। इससे बाल सुंदर, आकर्षक और चमकदार लगेंगे। आपको अपने बालों पर गर्व होगा।
-सैय्यद नवेद राना मोहसिन अली

Share it
Top