ड्रीम किचन का रखें ध्यान

ड्रीम किचन का रखें ध्यान

आधुनिक समय में किचन अगर पूरी तरह से उपकरणों से सुसज्जित न हो तो काम करने का मजा ही नहीं आता। आज की महिला चाहे एकल परिवार में क्यों न हो, उसे आधुनिक उपकरण चाहिए ही। किचन में अगर सब सामान हैं पर सुव्यवस्थित नहीं है या उपकरणों की सही देखरेख नहीं है तो वो ड्रीम किचन कैसे बनी रह सकती है। सभी सामान के साथ अगर आप साफ सफाई और व्यवस्थित किचन रखेंगे तो आपकी किचन सही मायने में ड्रीम किचन होगी।
चम्मचों के पिछली तरफ अगर मैल जम जाए तो महीने में एक बार चम्मचों को गरम डिटरजेंट वाले पानी में डालकर बेकार टूथब्रश से जरूर साफ कर लें।
चाकू दिन में दो से तीन बार डिटरजेंट लगे मुलायम कपड़े या ब्रश से साफ कर सुखा कर रखें।
गरम ओवन के कांच को गीले हाथ न लगाएं। वह टूट सकता है। जब ठंडा हो तो जाए तो डिटरजेट से नरम ब्रश की सहायता से साफ करें।
ओवन को साफ करने के लिए नरम गीले कपड़े पर थोड़ा लिक्विड डिटरजेंट लगाकर पोंछ लें। फिर उसे सूखे कपड़े से पोंछ लें।
रसोई में मिक्सी प्रयोग करने के बाद उस जार को अच्छी तरह डिटरजेंट से धोकर सुखा कर रखें। हैंड ब्लैंडर का प्रयोग करने के बाद धोकर सुखा कर रखें। अगर बर्तनों पर खुरचन लगी हो तो डिटरजेंट में दो चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं और खुरचन को स्टील के नर्म ब्रश से धीरे-धीरे रगड़ कर साफ कर लें। आसानी से खुरचन निकल जाएगी।
जहां आपने गैस स्टोव रखा है उसके आप-पास की टाइलें तभी साफ कर लें जब उन पर कुछ कुकर से निकल कर गिरे या तेल के छींटे पड़ें। वैसे माह में एक बार किचन की सारी टाइलें साफ कर लें। डिटरजेंट वाले घोल में नायलन ब्रश की सहायता से इन्हें साफ कर सकती हैं। अगर टाइलें चिकनी हैं तो पानी थोड़ा गर्म कर लें।
अगर मिक्सी में कुछ ऐसी चीज पीसी हों जो ब्लेड से चिपक जाएं तो आसानी से साफ करने के लिए थोड़े गुनगने पानी में लिक्विड डिटरजेंट डालें और मिक्सी 30 सैकंड के लिए चला दें। आसानी से ब्लेड साफ हो जाएंगे।
टोस्टर या पाप अप टोस्टर को कुछ दिन के लिए संभालना हो तो बीच में अखबार रख बंद कर संभाल दें। निकालते समय हल्का गीले कपड़े से साफ कर प्रयोग में ला सकती हैं। टोस्टर के नियमित प्रयोग करने के बाद पोंछ कर रखें नहीं तो महक आएगी और टोस्टर गंदा भी रहेगा।
रसोई घर की खिड़कियों को भी दो महीने में एक बार साफ करें। हल्के गर्म पानी में डिटरजेंट डालकर शीशे साफ करें। जाली के भाग को कपड़े धोने वाले ब्रश की सहायता से साफ करें। खिड़कियां चमचमाने लगेगी।
कड़ाही या कुकर के नीचे चिपके खाने को साफ करने के लिए दो बूंदें लिक्विड सोप की पानी में डालकर उबलने के लिए रख दें। सारा चिपका खाना आसानी से साफ हो जाएगा।
ओ टी जी में कुछ बनाते समय यदि उस की जाली पर कुछ गिर जाए तो उसी समय स्विच आफ कर गरम जाली पर ही लोहे का जूना रगड़ कर साफ कर लें वरना बाद में वो सख्त हो जाएगा और आसानी से नहीं छूटेगा।
कॉफी बनाने वाले जार को साफ करने के लिए उसमें 2 छोटे चम्मच बेकिंग सोडा और उबलता पानी डाल दें। जार साफ हो जाएगा।
माइक्रोवेव में कुछ उबल कर गिर जाए तो उस पर नमक बुरक दें। इससे न तो गंध आएगी, न धुआं उठेगा।
कांच के बरतन संभालने हों तो बर्तन धोकर पोंछ लें। हर प्लेट, कटोरी में एक एक पेपर प्लेट रख दें तो उन पर स्क्रेच नहीं पड़ेंगे न ही कोई दाग।
रसोई के कपड़े ऐसे करें साफ
रसोई के कपड़े खाना बनाते समय अक्सर चिकने हो जाते हैं और उनमें गंध आने लगती है। इन कपड़ों को कुछ देर गरम पानी में बेसन मिला कर भीगने दें। फिर साबुन से साफ कर लें।
स्लैब पर कुछ गिर जाए तो रसोई के डस्टर से साफ मत करें। पेपर नैपकिन का प्रयोग करें।
खाद्य पदार्थों की सुरक्षा ऐसे करें
फ्रिज में कच्ची सब्जियां संभालने से पहले बाल्टी में डालकर भली भांति धो लें और हवा लगवाकर जब सूख जाये तब अलग-अलग थैलियों में डालकर रखें। बहुत अधिक सब्जियां फ्रिज में न भरे। केलों को फ्रिज में न रखें।
लहसुन, शहद, खरबूजों को भी फ्रिज में न रखें।
फ्रिज से निकाली सब्जी को बनाने से पूर्व धोकर बनाएं।
काकरोचों से बचा कर रखें रसोई को
वैसे काकरोचों, कीड़ों का स्थाई इलाज नहीं है। फिर भी ध्यान रख कर इनसे कुछ हद तक छुटकारा पा सकते हैं।
साल में दो बार पेस्टिसाइड का छिड़काव जरूर करावें। छिड़काव कराने से पूर्व रसोई बिलकुल खाली कर दें ताकि छिड़काव का प्रभाव ठीक तरह से हो पायें।
रात्रि में रसोई में छोटी लाइट जला कर रखें। जूठे बर्तनों में खाने के अवशेष डस्टबिन में डाल दें ताकि बर्तनों में पड़े झूठे खाने पर कीड़े, कॉकरोच हमला न कर सकें। बीच-बीच में रसोई के शेल्फ, अलमारियों की सफाई करते रहे।
बोरिक पाउडर में थोड़ी चीनी, दूध डालकर आटे जैसा बना लें और फ्रिज के बाहर किनारों पर रसोई की अलमारियों के अंदर बाहर रसोई के कोनों पर वो छोटी छोटी गोलियां बना कर चिपका दें। ऐसा करने से कुछ दिन तक काकरोच रसोई में नहीं दिखते। रसोई की सफाई पर विशेष ध्यान दें।
- नीतू गुप्ता

Share it
Top