लुत्फ उठायें शॉपिंग का

लुत्फ उठायें शॉपिंग का

कई महिलाओं को शापिंग का बहुत शौक होता है। उन्हें शापिंग कैसे, कहां से करनी चाहिए, इसकी कोई जानकारी नहीं होती। बस वे खरीद लेती हैं लेकिन शापिंग महज शौक नहीं है। यह हमारी आवश्यक जरूरत भी है। शापिंग करना आपके लिए बेहतर अनुभव हो सकता है बशर्ते आप कुछ बातों का ध्यान रखें।
जरूरी सामान ही खरीदें - कुछ महिलाएं बाजार में पहुंचते ही खरीदारी के लिए उतावली-सी हो जाती हैं। कोई भी नया उपकरण कॉस्मेटिक्स या कपड़ा दिखते ही वे खरीद लेती हैं चाहे उन्हें बाद में उनका उपयोग समझ में ही न आए। शापिंग पर जाने से पहले सूची बना लें कि किस सदस्य के लिए क्या खरीदना है, बजट क्या है? फालतू शॉपिंग करके बजट नहीं बिगाड़ें।
सस्ते के चक्कर में न पडे - महिलाएं छोटे दुकानदारों, सेल या फेरीवालों से सामान खरीद लेती हैं जो कई बार नकली या दोषयुक्त निकल जाते हैं। उनकी रिपेयरिंग के चक्कर में पैसा और समय बर्बाद होता है इसलिए अधिकृत डीलर एवं सही दुकानदारों से ही खरीदारी करें।
बिल अवश्य बनवाएं -यदि आप बिल नहीं लेंगी तो उपकरण खराब निकलने पर यदि आपके पास बिल मौजूद है तो आप कंज्यूमर कोर्ट में अपील कर सकते हैं, अत: बिल लें और कम से कम गारंटी पीरियड खत्म होने तक संभाल कर रखें।
जांच-परखकर सामान खरीदें - कोई भी सामान खरीदने से पहले दो चार दुकानों पर जाकर उसकी कीमत के बारे में जानने की कोशिश करें। मोलभाव करने पर किसी दुकान पर वह चीज आपके कम भाव में मिल सकती है। यदि कीमत में ज्यादा फर्क है तो वस्तु की गुणवत्ता के बारे में जांच अवश्य करें।
- पूजा टण्डन

Share it
Top