महिलाओं हेतु बहुत जरूरी है कैल्शियम

महिलाओं हेतु बहुत जरूरी है कैल्शियम

क्या आप जानते हैं कि कैल्शियम को इस युग का सबसे उत्तम पौष्टिक खाद्य पदार्थ माना गया है। हम सब जानते हैं कि कैल्शियम का दांतों की सेहत के लिये और तन्दुरूस्त हड्डियों के लिए कितना बड़ा योगदान है लेकिन क्या आप यह भी जानते हैं कि कैल्शियम कई बीमारियों से छुटकारा पाने के लिये भी लाभप्रद है। यह आपके शरीर में कई बीमारियों से लडऩे की ताकत पैदा करता है।
यह बहुत कम लोग जानते हैं कि पौष्टिक कैल्शियम युक्त खानपान से आप रक्तचाप को कम कर सकते हैं, कैंसर से मुकाबला कर सकते हैं और यह मासिक-ॅाव की तकलीफों मेें भी आराम देता है।
हम सब जानते हैं कि कैल्शियम से दांत और हड्डियां मजबूत होती हैं। हमारी हड्डियां दरअसल कैल्शियम का भरपूर भंडार हैं और यदि हमारे शरीर को कैल्शियम खाने में कम मिलता है तो हमारा शरीर अपनी ही हड्डियों से कैल्शियम लेकर यह कमी दूर करता है इसलिये सही खान पान से हमें अपनी कैल्शियम की जरूरत को पूरा करना चाहिये।
एक व्यक्ति को 1000 मिलीग्राम कैल्शियम नित्य मिलना चाहिये। यदि हमारे शरीर को सही मात्र में कैल्शियम नहीं मिलता तो हमारा पैराथायराइड हारमोन और विटामिन डी मिलकर शरीर को आगाह करते हैं कि शरीर की हड्डियों से ही कैल्शियम भेज दें। यदि आपके खान पान में कैल्शियम की कमी है तो यकीनन आपकी हड्डियां कमजोर होती जायेंगी। अब तो और भी कई खोजें की गयी हैं। इनसे पता लगा है कि कैल्शियम रक्तचाप को सही रखने के लिये, कैंसर से बचाव के लिये और मासिक ॅाव संबंधी तकलीफों से लडऩे के लिए बहुत जरूरी है।
रक्तचाप: आपका रक्तचाप कई कारणों से बढ़ सकता है जैसे शरीर के वजन के कारण और अधिक नमकयुक्त खाद्य पदार्थों की वजह से। कई खोजों ने यह साबित किया है कि आपके शरीर में मौजूद कैल्शियम की मात्र भी आपके रक्तचाप पर असर डालती है। कैल्शियम की कमी रक्तचाप बढ़ाती है। 1997 में, 'डाईटरी एप्रोच टू स्टाप हाईपरटेंशन' नामक एक खोज के अनुसार जो लोग कम चरबीयुक्त खाना खाते थे और जिनके खाने में दूध व फल की मात्र ज्यादा होती थी और जो लोग अपने खाद्य पदार्थों के जरिये कम से कम 1200-1400 मिली ग्राम कैल्शियम लेते थे, उनका रक्तचाप कम हो गया था।
हम यह भी जानते हैं कि ज्यादा नमक रक्तचाप के लिये हानिकारक है लेकिन यदि आप ज्यादा कैल्शियम युक्त पदार्थ खाते हैं तो ज्यादा नमक लेने के हानिकारक तत्व भी कम हो जाते हैं।
कैंसर से बचाव
हमारे शरीर में, खासतौर पर आतंडिय़ों में हर आठ या दस दिनों में पुराने टीशू सड़ जाते हैं और ये शरीर से अपने आप घुल कर निकल जाते हैं। कभी कभी ये अन्दरूनी ऊतक जल्द सड़ जाते हैं लेकिन नये उतनी जल्द बन नहीं पाते और फिर आपकी आंतडिय़ों में, खासतौर पर कोलॅन के हिस्से में जख्म-सा बन जाता है जो भर नहीं पाता। ऐसे ही जख्मों से कैंसर होने का डर है।
यदि आप ज्यादा चरबीयुक्त खाना लेते हैं तो यह सब होने का डर है। कभी-कभी इसी कारणवश कोलोन में पुराने ऊतक पूरी तरह साफ नहीं हो पाते और इन्हीं के ऊपर नये आ जाते हैं। इन सब तकलीफों से आप मुक्ति पा सकते हैं यदि आप खान पान सही रखें। आपको अधिक फल सब्जी और दूध व पनीर लेना चाहिये। घी, तेल, मांस, मछली इत्यादि कम करना चाहिये।
मासिक संबंधी तकलीफें
तकरीबन 80 प्रतिशत औरतों को गंभीर मासिक-ॅाव संबंधी तकलीफें होती हैं। इस समस्या से आपको तनाव रहता है, आप चिड़चिड़े रहते हैं और आपके बदन में सूजन हो जाती है। कभी-कभी अचानक भूख लगना और पीठ का दर्द-ये सब आसार हैं कि आपको कैल्शियम की कमी है।
कई डाक्टरों का कहना है कि ये सब तकलीफें काफी हद तक दूर हो जाती हैं यदि ये औरतें तुरन्त ज्यादा कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ लेना शुरू कर दें। यह देखा गया है कि मासिक ॅाव से तीन-चार दिन पहले, उसके दौरान और तीन दिन उसके बाद, यानी कम से कम 10 दिन महीने में आपको जरूर कैल्शियम की गोलियां लेनी चाहियें।
इसके साथ जिन औरतों को मासिक की तकलीफें हों, उन्हें धूप में भी जाना चाहिये। धूप शरीर को विटामिन डी देती है और विटामिन डी आपके शरीर में कैल्शियम के साथ मिलकर इन रोगों से मुकाबला करने की शक्ति बढ़ाता है।
आजकल यह एक गंभीर समस्या है कि बच्चों में कैल्शियम की कमी है। दिन भर में एक बच्चे को कम से कम 5 कटोरी फल व सब्जी लेने चाहिये और तीन गिलास दूध अथवा पनीर या दही लेना चाहिए। आज के बच्चे तो कोल्ड ड्रिंक, नूडल्स व फास्ट-फूड ही खाते हैं। ये सब शरीर को नुक्सान ही पहुंचाते हैं। इन सब का असर बाद में पता लगता है।
इन्हीं कारणों से यह माना जाता है कि कैल्शियम अद्भुत है। कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ महंगे भी नहीं होते और यदि आप इस ओर ध्यान रखें तो आपको रोज के खाने में ही काफी कैल्शियम मिलेगा। हम आपको कुछ खाद्य पदार्थ बताते हैं जिनसे आपको कैल्शियम मिलता है।
दूध 250 ग्रा. 288 मि.ग्रा. कैल्शियम
दही 200 '' त्र 280 '' ''
कुल्फी 700 '' त्र 725 '' ''
खजूर 100 '' त्र 120 '' ''
इसके अलावा गुड़, पनीर, फूल गोभी इत्यादि में भी कैल्शियम होता है। आप देखेंगे कि कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ बहुत स्वादिष्ट हैं और आप इन्हें रोज ले सकते हैं। आज ही से अपने खाने में कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ बढ़ायें और कई तकलीफों से छुटकारा पायें।
- अम्बिका

Share it
Top