क्यों होती हैं कपल्स में प्राब्लम्स

क्यों होती हैं कपल्स में प्राब्लम्स

प्यार तकरार के खट्टे मीठे एहसासों के साथ दांपत्य जीवन खूब बढिय़ा और मजेेदार तरीके से चलता है लेकिन ऐसा तभी होता है जब जीवनसाथी दोनों ही समझदार, परिपक्व सोच लिए हों। कम उम्र में परिपक्वता कम ही देखने को मिलती है, नतीजतन प्राब्लम्स ही प्राब्लम्स.......
स्पेशल महसूस न कराना:-
रूटीन के चलते दोनों पाटनर्स एक दूसरे को टेकन फॉर ग्रान्टेड लेने लगते हैं। पहले वाले सरप्राइजेज जैसे अचानक कोई ट्रिप प्लान करना, बढिय़ा मूवीज के टिकट बुक कराना, कैंडल लाइट डिनर पर ले जाना हसबैंड महाशय भूल चुके होते हैं। वे नहीं जानते कि बीवियों को इस तरह के सरप्राइजेज कितने पसंद आते हैं। इसी तरह समय- समय पर एक दूसरे को गिफ्ट्स देने से भी दूसरे पाटर्नर को खुशी मिलती है और पाटर्नर के लिए स्पेशल होने की फीलिंग आती है। ये सब न करने पर होती है प्राब्लम।
स्मार्ट मूव:- पार्टनर की खुशियों का ख्याल रखते हुए उन्हें सरप्राइज देते रहना बरकरार रखें।
पार्टनर का वर्कहोलिक होना:-
डैडलाइन, टारगेट कंपलीट करने के चक्कर में पार्टनर का देर तक आफिस में रहना या संडे को भी आफिस जाना या घर पर ही फाइलों का ढेेर ले जाना। ऐसे में प्यार रोमांस तो हवा हो ही जाएगा।
स्मार्ट मूव:- करियर के साथ होम फ्रंट पर भी ध्यान देना जरूरी है। आपके समय पर कुछ हक तो आपकी लाइफ पार्टनर का भी बनता है वरना ऐसा न हो कि करियर में प्रमोशन और घर में डिमोशन हो जाए।
गीला तौलिया सिंड्रोम:-
गीला तौलिया बिस्तर पर डालने की आदत 9० परसेंट पतियों में होती है। यह आदत हर पत्नी को इरीटेट करती है। बीवी बड़बड़ करती रहती है, पतिदेव मस्ती में गुनगुनाते रहते हैं, अगले दिन फिर वही प्राब्लम। अब दिन भर के थके हारे आते हैं तो इतनी फ्रीडम तो मिलनी ही चाहिए कि वॉलट कहां, रूमाल किस कोने में, जुराबें सोफे पर फेंक सकें। आखिर चीजें ठिकाने पर रखने का उन्होंने ठेका तो नहीं उठाया। मजे की बात ये है कि चीजें फिर समय पर अपने ठिकानों पर न मिलने पर सारा ब्लेेम पत्नी के ऊपर डाल दिया जाता है। अब हो जाती है न नोंक झोंक की एक बड़ी वजह यानी कि एनदर प्राब्लम।
स्मार्ट मूव:- आदत में छोटा सा बदलाव ले आयें। जो चीज जहां से उठायें उसे वहीं पर रखें ताकि अंधेरे में भी उसे ढूंढने में प्राब्लम न हो। इस तरह बहुत सी मुसीबतों और वक्त की बर्बादी से बच जाएंगे आप।
हवा होता रोमांस:-
रोमांस का खत्म हो जाना दांपत्य को रूखा और महज व्यावहारिक बना देता हे। ऐसे में झगड़े भी बढ़ जाते हैं क्योंकि झगड़ों का अहम तोड़क रोमांस नहीं होता। पत्नी को पति से और पति को पत्नी से शिकायत रहने लगती है कि वो पहले से नहीं रहे/रही। कुछ दोनों की मजबूरी भी होती है।
स्मार्ट मूव:- रोमांस की जीवन में अहमियत समझ ली जाए तो ये शिकायतें दूर की जा सकती हैं। रोमांस वो टॉनिक हैं जिसकी डोज समय-समय पर ली जाए तो बढ़ती उम्र को भी धता बताया जा सकता है।
दोस्तों को ज्यादा समय देना:-
कई पुरूषों को परिवार से ज्यादा दोस्तों का साथ पसंद होता है। पत्नी बेचारी पति के साथ को तरस के रह जाती है। ऐसे में कभी कभी गलती पत्नी की भी होती है। वो हमेशा कुछ न कुछ कंपलेंट करते रहने के ही मूड में रहती हे। हर समय नेगेटिव बातें सुनते-सुनते पार्टनर इतना बोर हो जाता है कि अपनी जान छुड़ाने के लिए वो ज्यादा से ज्यादा वक्त घर से बाहर दोस्तों के साथ बिताना पसंद करता है।
स्मार्ट मूव:- दोस्तों का भी जीवन में एक अलग ही मुकाम होता है। उनसे कांटैक्ट भी बना रहना चाहिए। वो न केवल जीवन में रंग भरते हैं बल्किं एक अच्छा सपोर्ट सिस्टम भी होते हैं लेकिन प्राथमिकता घर परिेवार है, उनके प्रति उत्तरदायित्व है। यहां दोस्तों और परिवार के बीच उचित तालमेल बनाकर चलना ही आपके और परिवार के हित में होगा।
तुम्हारे पेरेंट्स ....तुम्हारे पेरेंट्स
जब दोनों ही इस लैंग्वेज में बात करने लगें तो यहां प्राब्लम क्रिएट होगी ही। दोनों को एक दूसरे के पेरेंट्स का सम्मान करना चाहिए। उन्हें गरीबी अमीरी के हिसाब से कम ज्यादा आदर न देकर अपने जन्मदाताओं के रूप में देखें। उनकी देखभाल, उनका कार्य करते हुए ग्रज न करें, मुंह न बनायें।
स्मार्ट मूव:- तुम्हारे पेरेंटस के लिए संबोधन भी है मम्मी पापा, अम्माजी बाऊजी, मॉम डैड इत्यादि। इन शब्दों की मिठास मुंह में घुलने तो दें जरा...।
खाने को लेकर झगडऩा:-
बेहद शर्मनाक है। ज्यादा जुबान चटोरी हो तो बाजार है, रेस्त्रां, होटल व दुकानें हैं। बीवी को तंग करना या लडऩा अशोभनीय है। हां प्यार से रिक्वेस्ट के टोन में जरूर फरमाइश करें। ज्यादातर सभी पत्नियों को पति का मनपसंद खाना बनाकर खिलाने में बहुत खुशी और संतुष्टि मिलती है।
स्मार्ट मूव:- खाने के ज्यादा ही शौकीन हो तो पतिदेव खुद तरह तरह की डिशेज बनायें, खायें और पार्टनर को भी खिलायें।
- उषा जैन 'शीरीं'

Share it
Top