आप भी बन सकती हैं रेशमी बालों की मलिका

आप भी बन सकती हैं रेशमी बालों की मलिका

कहा जाता है कि नारी का आधा सौंदर्य उसके बालों में छिपा होता है, अर्थात यदि बाल खूबसूरत हों तो एक साधारण युवती भी सुंदर लगती है और यदि बाल खूबसूरत न हों तो एक रूपसी का सौंदर्य भी फीका लगने लगता है।

प्रश्न यह उठता है कि बालों की खूबसूरती किस प्रकार बढ़ाई जाये? वैसे तो बालों की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए अनेक उपाय हैं लेकिन जो बात सर्वप्रथम ध्यान देने योग्य है, वह है 'उचित आहार'।

यह सच है कि उचित आहार की कमी होने की वजह से जहां हमारे शरीर पर इसका असर पड़ता है वहीं हमारे बालों पर इसका असर पड़ता है। एक दूसरी महत्त्वपूर्ण वजह है 'कब्ज'। यकीनन हमारे शरीर में आधे से ज्यादा बीमारियां कब्ज की वजह से होती हैं। इस कब्ज का इलाज अगर समय पर न किया जाये तो यह स्थायी रूप से हमारे शरीर पर 'कब्जा' कर लेती है। अत: यदि शरीर को स्वस्थ रखना है तो कब्ज को दूर भगाना होगा। यदि हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा तो बाल भी स्वस्थ रहेंगे।

इनके अलावा बालों की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए आप निम्न उपायों का भी प्रयोग कर सकती हैं:-

- बालों में कभी भी अलग-अलग ब्राण्ड के शैंपू का प्रयोग न करें। जहां तक संभव हो सके, एक ही प्रकार के शैंपू का इस्तेमाल करें।

- बालों में अगर रूसी हो जाए तो नींबू का इस्तेमाल करें। इसके लिए एक बर्तन में आधा नींबू निचोड़ लें और रस को छलनी से छानकर बीज इत्यादि अलग कर लें। तत्पश्चात बालों की जड़ों में नींबू के रस को लगायें। आधे घंटे या बीस मिनट के बाद सिर को धो लें। इस प्रक्रि या को हफ्ते मेें दो बार करें।

- हफ्ते में एक बार नियमित रूप से मेंहदी का इस्तेमाल करें। वास्तव में मेंहदी बालों के लिए कंडीशनर का काम करती है। मेंहदी का घोल तैयार करने के लिए सर्वप्रथम एक बर्तन में थोड़ा सा पानी उबालें। पानी उबालने पर आधा चम्मच चायपत्ती डालें और दो-तीन उबाल आने पर इस पानी को गैस से उतार कर ठंडा कर लें और छान लें। अब इस पानी से मेंहदी का घोल तैयार करें एवम् रात भर के लिए इसे एक लोहे की कड़ाही में भिगो कर रख दें। सुबह सही प्रकार से फेंट कर इस घोल को पहले अपने बालों की जड़ों में लगायें। तत्पश्चात् धीरे-धीरे सारे बालों में लगायें।

- कंडीशनर के रूप में आप अंडे का प्रयोग कर सकती हैं। अंडा बालों को अतिरिक्त पोषण देने के अलावा चमकदार एवम् मुलायम बनाता है।

- बाल धोने के लिए आंवला और शिकाकाई का प्रयोग लाभकारी होता है।

- गीले बालों में कंघी न करें।

- जिनके बालों में रूसी रहती है, उनके लिए दही का प्रयोग अच्छा रहता है। बालों में दही का प्रयोग या तो हर हफ्ते कर सकते हैं या फिर हफ्ते में दो बार।

- बालों की नियमित रूप से 'ट्रिमिंग' कराते रहें ताकि दोमुंहे बालों की समस्या से छुटकारा मिल सके।

- ड्रायर का प्रयोग कम से कम करें क्योंकि ड्रायर के अत्यधिक प्रयोग से बालों की प्राकृतिक चमक कम होने लगती है, साथ ही बाल रूखे एवम् बेजान लगने लगते हैं।

- अगर बालों में डाई का प्रयोग करना पड़े तो सदैव अच्छी कंपनी की डाई का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

अगर आप उपरोक्त बातों का ध्यान रखेंगी तो निश्चय ही आपके बाल सुंदर एवम् रेशमी बन जायेंगे और इस तरह आप भी रेशमी बालों की मलिका कहलायेंगी।

- कृष्णा कुमारी

Share it
Top