बच्चों को पार्क में ले जाते वक्त ध्यान दें

बच्चों को पार्क में ले जाते वक्त ध्यान दें

आज के युग में बच्चे टी. वी. कम्प्यूटर, मोबाइल व इनडोर गेम्स में ही इतने तल्लीन हो गए हैं कि न तो वे बाहर खेलने जाना चाहते हैं और न ही उनके अभिभावकों के पास इतना समय होता है कि वे उन्हें बाहर घुमाने ले जाएं लेकिन यह स्थिति बच्चे के मानसिक व शारीरिक विकास के लिए ठीक नहीं है, इसलिए अभिभावकों को चाहिए कि वे बच्चों को पार्क इत्यादि में घुमाने अवश्य ले जाएं परंतु कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें।

- पार्क ले जाते समय बच्चों को मौसम के अनुकूल वस्त्र पहनाकर ले जाएं। वस्त्र बहुत ज्यादा महंगे न पहनाएं अन्यथा धूल-मिट्टी से खराब होने का डर बना रहेगा और बच्चा फ्री होकर खेल नहीं पाएगा।

- जब भी पार्क में जाएं, अपने साथ कुछ खेलने का सामान अवश्य ले जाएं जैसे बैट-बॉल, लूडो, बैडमिंटन फुटबाल आदि।

- बच्चे बोर न हों, इसके लिए अपने बच्चों के साथ पड़ोसी के बच्चों को भी ले जाएं।

- पार्क में ले जाते समय बच्चे की जेब में एक कार्ड डाल दें, जिसमें उसका नाम, घर का पता व फोन नं. लिखा हो।

- बच्चे के आग्रह करने पर खुद भी बच्चे के साथ खेलें अन्यथा वह बोर हो जाएगा।

- पार्क जाते समय पानी की बोतल व कुछ खाने का सामान अपने साथ अवश्य ले जाएं। इससे बच्चा बाहर की गंदी चीज़ें खाने की जिद नहीं करेगा।

- झूला झूलते समय बच्चे के पास खड़े रहें या दूर से ध्यान रखें कि कहीं कोई दुर्घटना न हो जाए।

- पति की छुट्टी हो तो उन्हें भी पार्क चलने को कहे। इससे बच्चों को पिता के साथ समय बिताने में मजा आएगा और आपके पति को भी कुछ बदलाव महसूस होगा।

- पार्क के कर्मचारियों से बच्चों की जान-पहचान अवश्य करवा देनी चाहिए ताकि जरूरत पडऩे पर वे आपकी कुछ मदद कर सकें।

- बच्चों को घर से ही समझा कर ले जाएं कि पार्क में जाकर फूल न तोड़ें और न ही खाने-पीने की चीजें इधर-उधर फेंके। इससे पार्क गंदा और वातावरण दूषित होता है।

-शैली माथुर

Share it
Top