गृहिणी वही जो नया आजमाये

गृहिणी वही जो नया आजमाये

तोरई के छिलके और आलू के छिलकों को तलकर उस पर नमक, मिर्च स्वादानुसार डालकर गर्मागर्म शाम को स्नैक के रूप में चाय के साथ खायें।

श आलू के चिप्स काटकर हल्दी लगायें और नमक मिले पानी में डाल दें। इस पानी में दो-चार बूंद नींबू का रस मिला दें। 10 मिनट बाद निकाल कर पोंछकर सुखा लें। ये चिप्स सफेद और खस्ता बनेंगे।

- करी पत्तों को नारियल के तेल में उबालकर छान लें। इस्तेमाल करने से बाल सफेद नहीं होंगे।

- अधिक मीठी या तली भुनी चीज खाने से कई बार पेट फूलने लगता है या फिर खट्टी डकारें आने लगती हैं। ऐसे में 5 काली मिर्च के साथ 10 पोदीने की पत्तियों को मुंह में रखकर धीरे-धीरे चबायें। आराम मिलेगा।

- यदि कपड़े पर चिकनाई या घी तेल के दाग पड़ जायें तो कपड़े पर टैलकम पाउडर छिड़कें। ऊपर से उस पर अखबार और कोई भारी वस्तु रख दें। चिकनाई अखबार पर आ जायेगी।

- पिसी हुई लाल मिर्च में थोड़ा पिसा हुआ नमक मिलाकर रख देने से वह कई महीनों तक खराब नहीं होती। बरसात में कीड़े भी नहीं पड़ते।

- पनीर बनाने के बाद जो पानी शेष बच जाता है, उससे आटा गूंथें। इससे रोटी परांठा अधिक खस्ता बनता है। इस पानी को दाल बनाते समय भी प्रयोग में लाया जा सकता है।

- दूध को उतारकर कस्टर्ड पाउडर डालें और मिलाकर फिर उबालें। इससे गांठें नहीं पड़ेगी।

- आलू की पतली फांक आंखों पर रखने से आंखों की थकान दूर होती है।

- उल्टी से बचने के लिए पोदीने की टहनियों को चूसें।

- यदि कैंची की धार खराब हो गई हो तो कैंची को किसी कांच की बोतल पर काटने की मुद्रा में चलायें। धार अच्छी हो जायेगी।

- रस निकले नींबू के छिलकों को रात में एक मग में भिगो दें। अगले दिन उसे बाल्टी में डालकर नहायें। शरीर में भीनी-भीनी खुशबू आयेगी व त्वचा भी मुलायम होगी।

- श्रीखंड बनाते समय दही से निकले हुए पानी को न फेंकें। उस पानी से आप चावल बना सकते हैं या उस पानी को आप दिनभर लस्सी की तरह पी सकते हैं।

- कस्टर्ड को खट्टा करने के लिए संतरा या अंगूर काटकर डालें।

- त्वचा पर दही का लेप करने से त्वचा की टोनिंग होती हैं

- गैस बनने की अवस्था में मिश्री के साथ पोदीने की आठ-दस पत्तियां चबाकर खायें। पेट हल्का रहेगा, भूख भी खुलकर लगेगी।

- यदि कपड़े पर बाल पेन की स्याही का दाग पड़ गया हो तो नेलपालिश रिमूवर लगा दें। दाग छूट जायेगा।

- दूध उबालते समय पतीले में कलछी डाल दें। दूध उबलकर बाहर नहीं आयेगा।

- चावल की खीर बनाते समय चावलों को पहले घी में थोड़ा भून लें। खीर बरतन में चिपकेगी नहीं।

- चावल उबालने के बाद बचे हुए पानी से सूती कपड़ों पर कलफ लगायें।

- मैदा को प्लास्टिक बैग में डालकर फ्रिज में रखें। यह महीनों खराब नहीं होगा।

- शहद एवं दही समान मात्र में मिलाकर चेहरे एवं गर्दन पर लगाने से झुर्रियां दूर होती है।

- मुख की दुर्गंध दूध करने के लिए पोदीने की पत्तियों को गर्म पानी में खूब उबालें। जब काढ़ा ठंडा हो जाये तो कुल्ला व गरारा करें। मुंह को ताजगी भी मिलेगी, महक भी आने लगेगी।

- फ्रिज में बर्फ की ट्रे चिपक जाती है। ट्रे को रखने से पहले उसके तले पर मोमबत्ती रगड़ें, ट्रे चिपकेगी नहीं।

- चमड़े के फर्नीचर पर लगे दाग आफ्टर शेव लोशन से साफ करें। ये बिल्कुल खत्म हो जायेंगे और फर्नीचर का चमड़ा भी खराब नहीं होगा।

- सोने के जेवरों में चमक जाने के लिये उन्हें एक घंटे तक पानी में सिरका डालकर डुबो दें। बाद में ब्रश से साफ कर दें।

-मीना जैन छाबड़ा

Share it
Top